आपसी मनमुटाव में चचेरे भाई ने ही 8 साल के बच्चे को छत से फेंका, पुलिस का खुलासा

जबलपुर/संदीप कुमार

जबलपुर में 8 साल का जयेश छत से गिरा नहीं था बल्कि उसे जानबूझकर धक्का देकर नीचे गिराया गया था, यह खुलासा किया है ग्वारीघाट थाना पुलिस ने। पुलिस ने बच्चे को छत से फेंकने वाले आरोपी को भी गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी युवक कोई और नहीं बल्कि उसका चचेरा भाई है।

मंगलवार दोपहर को छत से नीचे गिरा था जयेश
ग्वारीघाट निवासी जयेश मंगल की दोपहर को अचानक ही छत से गिर गया था। शुरुआती दौर में यह माना जा रहा था कि जयेश खुद गिर गया है पर जब पुलिस ने इस पूरे मामले की जांच की तो खुलासा चौंकाने वाला था। जयेश का चचेरा भाई नीलेश उस 8 साल के बच्चे से नाराज था। निलेश ने पूछताछ में पुलिस को बताया कि वह जब भी घर जाता था तो वो उसके साथ बदतमीजी करता था। कई बार उसके आने पर दरवाजा नहीं खोलता था इसलिए उसे नीचे फैंक दिया।

ये हुआ था घटना वाले दिन
मृतक की माँ के मुताबिक सुबह लगभग 11 बजे उसके जेठ देवीदास का लड़का नीलेश नानकानी उसके पास आया घर पर वह एवं उसकी बेटी रोशनी तथा बेटा जयेश था,नीलेश ने उसके बेटे जयेश को गोद में उठा लिया और चलने लगा, उसने नीलेश से पूछा कि जयेश को कहा ले जा रहे हो, बोला अभी थोड़ी देर में छत के ऊपर से जयेस को लेकर आता हूॅं एैसा कहते हुये नीलेश जयेश को लेकर छत के ऊपर चला गया, वह और उसकी बेटी रोशनी पीछे-पीछे छत पर गये नीलेश दौड़कर चढ़ गया और उसके बेटे जयेश को छत से नीचे फैंक दिया, बेटा जयेश नीचे पक्के फर्श पर गिरा जिससे सिर फट गया और जयेश की मृत्यु हो गई।

पुलिस ने कई धाराओं के तहत मामला किया दर्ज 
ग्वारीघाट थाना पुलिस ने जयेश को छत से नीचें फेंकने के अपराध में नीलेश नानकानी के विरूद्ध धारा 302 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर नेपियर टाउन निवासी को गिरफ्तार कर लिया है।