कांग्रेस नेत्री के बार पर जिला प्रशासन का छापा, लायसेंस निरस्त, दो अधिकारी निलंबित

जबलपुर, संदीप कुमार। जबलपुर में शराब बार के एक लाइसेंस पर चार बार चलाए जा रहे थे। ये बार एक कांग्रेस नेत्री के थे और सारी जानकारी होने के बावजूद सालों से प्रशासन इसपर चुप्पी साधे था। अब जबलपुर कलेक्टर कर्मवीर शर्मा ने अवैध बार पर बड़ी कार्रवाई करते हुए इसका लाइसेंस निरस्त कर दिया है। वहीं दो अधिकारियों को निलंबित भी किया गया है। लेकिन इस मामले में सवाल उठ रहे हैं कि इतने अरसे से आखिर आबकारी विभाग और बाकी अधिकारी खामोश क्यों थे।

लाइसेंस एक और संचालित हो रहे थे चार बार
सिविल लाइन क्षेत्र के स्टेट बैंक के सामने संचालित हो रहे ऋषि रीजेंसी बार संचालक में एक लाइसेंस के एवज में चार जगह बार संचालित किए थे। खास बात यह है कि एक लाइसेंस पर इतने सारे बार संचालित हो रहे थे। ये गोरखधंधा बीते कई सालों से चल रहा था और आपॉबकारी विभाग को इसकी सूचना ही नहीं थी। अब जबलपुर कलेक्टर कर्मवीर शर्मा के निर्देश पर प्रशासन ने बड़ी कार्यवाही की है।

कांग्रेस नेत्री तलविंदर गुजराल के हैं बार
जानकारी के मुताबिक जबलपुर शहर के सबसे पॉश इलाके में संचालित हो रहे ऋषि रीजेंसी बार की मालिक कांग्रेस नेत्री तलविंदर कौर गुजराल हैं। आबकारी विभाग ने जबलपुर कलेक्टर के निर्देश पर ऋषि रीजेंसी बार के लाइसेंस को निरस्त कर दिया है।

बड़े अधिकारियों को छोड़ छोटे अधिकारियों पर हुई कार्यवाही
जबलपुर शहर में सभी को पता है कि ऋषि रीजेंसी बार कांग्रेस नेता तलविंदर कौर गुजराल का है। ऐसे में एक ही लाइसेंस पर बीते कई सालों से चार-चार बार संचालित होने पर जबलपुर जिला प्रशासन की कार्यवाही पर भी सवाल उठना शुरू हो गए हैं। प्रशासन ने इस पूरे मामले में जहां बार संचालक का लाइसेंस निरस्त कर दिया है तो वहीं बड़े अधिकारियों को छोड़कर दो छोटे अधिकारी नीरज दुबे और सुधीर मिश्रा को निलंबित कर दिया गया है। फिलहाल जिला प्रशासन की इस कार्रवाई के बाद से आबकारी आयुक्त पर भी सवाल उठने लगे हैं कि आखिरकार उन पर कार्रवाई की गाज क्यों नहीं गिरी जबकि उनको सारे मामले की जानकारी थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here