जबलपुर, संदीप कुमार। वर्तमान परिवेश में इंसान को दो बीमारियों से एक साथ लड़ना पड़ सकता है। एक तो कोरोना वायरस का संक्रमण, दूसरा हार्ट अटैक। जी हाँ ठंड में अचानक  हार्ट अटैक के केस बढ़ जाते है पर इस समय देखा जा रहा है कि कोरोना बीमारी ही हार्ट अटैक को बढ़ा रही है। इसका कारण यह है कि कोविड खून का गाढ़ा कर देता है, नतीजन नसों का खून जम जाता है और हार्ट अटैक की आशंका बढ़ जाती है। यह कहना है कार्डियोलजिस्ट डॉ अनिमेष गुप्ता का।

कोरोना प्लस हार्ट अटैक इन डबल अटैक बीमारी को लेकर डॉ अनिमेष गुप्ता ने बताया कि आम दिनों में ठंड के समय ही हार्ट अटैक के केस आ रहे थे पर इस साल कोरोना के चलते भी हार्ट अटैक के केसों में इजाफा हुआ है। कोरोना से ठीक होने वाले व्यक्ति को भी हार्ट अटैक आया है ये हाल के दिनों में देखा भी गया है। कार्डियोलजिस्ट डॉ अनिमेष गुप्ता का कहना है कि ठंड के समय उन लोगो को ज्यादा सतर्क रहने की आवश्यकता है जिनकी उम्र 50-60 साल से ज्यादा है। साथ ही उन्होंने बताया कि आखिर कैसे शरीर मे डबल अटैक करने वाली बीमारी से बचें। डॉ अनिमेष गुप्ता का कहना है कि ठंड के समय व्यायाम का समय बढ़ाना, समय पर भोजन करना और तनावमुक्त रहना ही इन दोनों बीमारियों से जीतने का उपाय है।