जबलपुर जिले के तीन अस्पतालों में कोरोना वैक्सीन का ड्राय रन, ऑनलाइन सिस्टम के तहत टीकाकरण दर्ज

जबलपुर, संदीप कुमार। कोरोना का निराकरण- कोविड-19 का टीकाकरण, इस संदेश के साथ केंद्र सरकार के निर्देश पर जबलपुर सहित प्रदेश के 21 जिलों में आज कोरोना वैक्सीन का ड्राय रन किया गया। जबलपुर जिले के तीन अस्पतालों नेताजी सुभाष चन्द्र बोस मेडिकल अस्पताल, जिला अस्पताल विक्टोरिया और एक निजी अस्पताल में बनाए गए वैक्सीनेशन सेंटर में करोना वैक्सीन लगाने की मॉक ड्रिल की गई।

सुबह सबसे पहले जिला अस्पताल में बने कोल्ड स्टोरेज से डमी वैक्सीन के बॉक्स निकाले गए, इनका तापमान दर्ज किया गया, इसके बाद वैक्सीन को जिला अस्पताल, मेडिकल अस्पताल और एक निजी मेट्रो अस्पताल में बनाए गए वैक्सीनेशन सेंटर में भेजा गया। इस दौरान वैक्सीन को वैक्सीनेशन सेंटर में पहुंचने वाला समय और वैक्सीन बॉक्स का तापमान एक बार फिर दर्ज किया गया। इसके बाद वैक्सीनेशन सेंटर में मौजूद हेल्थ वर्कर्स की टीम ने वैक्सीन के लिए चुने गए हेल्थ वर्कर्स को टीका लगाने का अभ्यास किया। जैसे ही टीका लगाने का अभ्यास पूरा हुआ तुरंत ऑनलाइन सिस्टम के तहत टीकाकरण दर्ज भी किया गया।

हालांकि यह रजिस्ट्रेशन प्रॉक्सी था यानी कि मॉक ड्रिल के लिए किया गया था, लेकिन इससे टीकाकरण की संख्या तुरंत मालूम हो रही थी। इस दौरान जिला प्रशासन, स्वास्थ्य विभाग और पुलिस की टीम मौजूद थी सभी ने अपने अपने स्तर की व्यवस्थाओं नोट किया और अब इन सब की एक सम्मिलित रिपोर्ट तैयार की गई है। कोल्ड स्टोरेज से वैक्सीनेशन सेंटर तक वैक्सीन को पहुंचाने में किसी भी तरह की समस्या का सामना नहीं करना पड़ा और वैक्सीन के लिए जरूरी तापमान को भी बनाए रखा गया है। इस ड्राय रन के लिए वैक्सीनेशन सेंटर में पांच सदस्यीय टीम तैयार थी और प्रत्येक सेंटर मे तीस हेल्थ वर्कर्स को वैक्सीन लगाया गया। जबलपुर में लगभग तेईस हजार फ्रंटलाइन हेल्थ वर्कर्स को पहले चरण में टीका लगाया जाएगा, इसकी लिस्ट तैयार कर ली गई है और टीकाकरण के लिए साठ वैक्सीनेशन सेंटर भी बनाए गए हैं। जैसे ही वैक्सीन उपलब्ध करायी जाएगी टीकाकरण का काम प्रारंभ कर दिया जाएगा और लगभग चार दिन के अंदर ही तेईस हजार हेल्थ वर्कर्स को टीका लगा दिया जाएगा, इसी हिसाब से यह मॉक ड्रिल आयोजित की गई थी जिसमें प्रशासन को पूरी सफलता मिली है।