मप्र में बिजली बिल होंगे हाफ, 27 लाख किसानों को मिलेगा योजना का लाभ

-Electricity-bill-will-be-half-in-MP-27-lakh-farmers-will-get-benefit-of-the-scheme

जबलपुर| मध्य प्रदेश में कमलनाथ सरकार ने अपना एक और वचन निभाते हुए किसानों को सिंचाई के लिए 44 पैसे प्रति यूनिट बिजली देने के लिए कदम बढ़ा दिया है| जिसके चलते कमलनाथ सरकार इंदिरा किसान ज्योति योजना लागू करने जा रही है| जबलपुर पहुंचे मध्य प्रदेश के ऊर्जा मंत्री प्रियव्रत सिंह के मुताबिक़ कमलनाथ सरकार ने अपने वचन-पत्र में वचन दिया था,कि किसानों का बिजली बिल हाफ यानि आधा किया जायेगा| जिसे पूरा करते हुए सरकार इंदिरा किसान ज्योति योजना के तहत 10 हार्स पावर तक के कृषि उपभोक्ताओं को आधी दर पर बिजली देने जा रही है| इस योजना के जरिये अब किसानो को 44 पैसे प्रति यूनिट की दर पर सिंचाई के लिए बिजली मिलेगी| जबकि वर्तमान में अभी 88 पैसे प्रति यूनिट की दर से किसानो को सिंचाई के लिए बिजली मिलती है| 

प्रियव्रत सिंह के मुताबिक़ इंदिरा किसान ज्योति योजना आने वाले अप्रैल माह से योजना शुरू हो जाएगी दरअसल विद्युत नियामक आयोग द्वारा तय टेरिफ अनुसार अभी अगर किसान 5 हार्स पावर का स्थायी कृषि उपभोक्ता है,तो ऐसे में उसे सालाना लगभग 46 हजार 55 रुपये का बिजली का बिल आता है,जिसमे 7 हजार रुपये किसान को देने पड़ते है,जबकि शेष 39 हजार 55 रुपये की राशि सरकार देती है,लेकिन वचन पत्र के मुताबिक़ अब किसान को  46 हजार 55 रुपये में से मात्र 3500 रुपये बिजली बिल के देने होंगे, जो  44 पैसे प्रति यूनिट के हिसाब से होगें,बाकी के बचे हुए 42 हजार 555 रुपये सरकार जमा करेगी,किसानों के लिये कुल सबसिडी जो पहले 9 हजार 700 करोड़ दी जाती थी, वह अब 10 हजार 400 करोड़ रुपये दी जायेगी.|

.ऊर्जा मंत्री प्रियव्रत सिंह के मुताबिक़ इंदिरा किसान ज्योति योजना से प्रदेश के 27 लाख किसानो को योजना का लाभ मिलेगा,जिनमे  8 लाख अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति वर्ग के किसान शामिल है,उनको भी पूर्व की तरह ही लाभ मिलता रहेगा,इसके साथ ही योजना में 2 लाख अस्थायी कृषि उपभोक्ताओ को भी फायदा पहुंचेगा।