संस्कारधानी में ममता शर्मसार, जन्म होते ही नवजात को कचरे के ढेर में फेंका, अस्पताल में इलाज जारी

हॉस्पिटल में बच्चे का इलाज जारी है जहां वो पूरी तरह स्वस्थ्य है, इधर पुलिस ने बच्चे को फेंकने वाले अज्ञात आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरु कर दी है।

jabalpur news

जबलपुर, संदीप कुमार। एक कहावत है मारने वाले से बचाने वाला बड़ा होता है कुछ इस तरह की घटना देखी गई जबलपुर (Jabalpur) में जहाँ एक नवजात बच्चे को किसी व्यक्ति ने बोरी में बांधकर मरने के लिए फेंक दिया था। उसके शरीर पर चींटियां रेंग रही थी और उसे काट रही थी। दर्द के कारण नवजात तड़प रहा था और रो रहा था जिसके लिए बबलू एक फरिश्ता बनकर आए।

यह भी पढ़ें… CBSE ने जारी की 10वीं-12वीं बोर्ड परीक्षा के टर्म 1 की डेटशीट, देखिए कब होगी परीक्षा…

यादव कॉलोनी में गणेश मंडप के पीछे जहां बच्चे को कूड़े में फेंका गया था, वहां से गुज़र रहे एक शख्स ने बच्चे की रोने की आवाज़ सुन ली, अपनी पत्नि के साथ गुज़र रहे बबलू शिवहरे नाम के इस शख्स ने पास जाकर बोरी खोली तो उससे एक नवजात बच्चा मिला, पति-पत्नि को जब बच्चे को हॉस्पिटल ले जाने एंबुलेंस नहीं मिली तो वो उसे लेकर पहले यादव कॉलोनी पुलिस चौकी और फिर पुलिस की मदद से हॉस्पिटल ले आए। हॉस्पिटल में बच्चे का इलाज जारी है जहां वो पूरी तरह स्वस्थ्य है, इधर पुलिस ने बच्चे को फेंकने वाले अज्ञात आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरु कर दी है।