धान तुलाई के दो माह बाद भी नहीं मिला किसानों को पैसा,किसानों ने लगाए भ्रष्टाचार के आरोप

जबलपुर।संदीप कुमार।

2 माह पहले जिले भर में जिला प्रशासन ने धान खरीदी की थी।धान खरीदी की जानकारी भी पोर्टल में चढ़ चल चुकी है पर धान का भुगतान किसानों को आज तक नहीं हुआ। आज करीब 50 से ज्यादा किसान जब भुगतान को लेकर कलेक्टर भरत यादव से मिलने पहुंचे तो पुलिस ने उन्हें रोकते हुए बाहर की ओर भगा दिया। किसान पुलिस के हाथ जोड़ते रहे पर पुलिस को उन पर रहम नहीं आया।आखिरकार थक हराकर किसान वापस लौट गए।

किसानों की माने तो धान खरीदी के दो माह हो चुके है,किसानों ने अपनी अपनी धान ज़िला प्रशासन को दे चुके है पर उनका भुगतान आज तक नही हुआ।आज किसान जब अपनी धान का भुगतान के लिए कलेक्ट्रेड पहुँचे तो उन्हें ये कहा गया कि आप लोग की धान खराब है जो कि वापस कर दी जाएगी। पिछले साल भी जिला प्रशासन ने 27 हजार क्विंटल धान पोर्टल में नही चढ़ाई थी जिसको लेकर कोर्ट ने उच्च न्यायालय की शरण ली थी जिसमे आगामी 17 मार्च को राज्य सरकार और जिला प्रशासन को जवाब देना है कि आखिर क्यों 27 हजार क्विंटल धान पोर्टल में नही चढ़ाई गई थी।

कल से किसान करेंगे अनशन

किसान संतोष राय ने बताया कि जिला प्रशासन ने धान खरीदी के लिए कई दिनों तक केंद्र के बाहर रखे रहे और जब पानी गिर गया तो यह कहकर धान को वापस किया गया कि इसका कलर निकल गया है और ये खराब धान है।किसानों की माने तो खरीदी के बाद वेयर हाउस में धान रखने की जिम्मेदारी प्रशासन की होती है।पर प्रशासन के अधिकारी भ्रष्टाचार में लिप्त है और कमीशन मांग मांग कर धान को ले रहे है जो कि किसानों के साथ अन्याय है।