पैरोल से नहीं लौटे कैदियों पर दर्ज हुई FIR, फरार घोषित

जबलपुर, संदीप कुमार। जबलपुर की नेताजी सुभाष चंद्र बोस केंद्रीय जेल से पैरोल पर गए कैदी जब पैरोल समाप्त होने के बाद भी वापस लौट कर नही आए है, तो इन बंदियों को जेल विभाग ने अब फरार घोषित करते हुए पुलिस में इनके खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई है, इधर जेल विभाग की शिकायत के बाद अब पुलिस फरार बंदियों को तलाश करने में जुटी हुई है, बताया जा रहा है कि अभी भी 18 कैदी ऐसे है जो कि सालो से पैरोल में छूटने के बाद लौटकर नही आए है।

यह भी पढ़े…धर्मांतरण के तथ्य सामने आने के बाद रिहैबिलिटेशन सेंटर की मान्यता रद्द

जबलपुर केंद्रीय जेल से पैरोल पर गए 18 बंदी कई सालों से फरार है, जेल विभाग ने फरार बंदियों के परिजनों से भी पूछताछ की पर जब उन्हें सफलता नही मिली तो थक-हारकर पुलिस से मदद ली गई, ऐसे में अब जबलपुर पुलिस की विशेष टीम फरार बंदियों की तलाश में जुटी हुई है, जबलपुर जेल प्रशासन ने साल 1996 से अब तक पैरोल से फरार हुए कैदियों की सूची भेजी है जो कि इस प्रकार से है।

ये बंदी है सालो से फरार

कैदी का नाम….कब से है फरार
गणेश सिंह(दमोह) …..जनवरी 1996
ईश्वर सिंह(नरसिंहपुर)…..मार्च 1997
ललित कुमार( छिंदवाड़ा)..  30 अगस्त 1958
सुनील खटीक( सिवनी) अगस्त 2002 …..
गणपत सिंह(नरसिंहपुर) मई 2003…….
विपिन कुमार( जबलपुर) जून 2004…..
विनोद कुमार(जबलपुर) मई 2004…….
शिवप्रसाद(शिवपुरी) मई 2005…….
अमरकंठ(बालाघाट)सितंबर 2005……
रज्जू चौधरी(कटनी)फरवरी 2016……
दान सिंह(बेलखेड़ा) फरवरी 2016……
सत्यम एंथोनी(जबलपुर) फरवरी 2017 ……..
श्यामू बर्मन(जबलपुर)अक्टूबर 2017 ……
अजय बर्मन(गोरखपुर)नवंबर 2017……
महंत लाल(सिवनी) सितंबर 2021……
धर्मेंद्र(बालाघाट)सितंबर 2021…..

अमर कुमार(जबलपुर) जनवरी 2021……
छोटेलाल मंडला(जनवरी) 2021……..
जनवरी 2021 में कैदी मंजू डेहरिया को पैरोल से वापस लौटना था पर वह वापस जेल नहीं आया, लिहाजा जबलपुर पुलिस की टीम ने जांच शुरू की तो वह होशंगाबाद में भेष बदलकर रह रहा था, टीम वहां पहुंचकर उसे दबोच लिया फिर मंजू को जेल भेज दिया गया है।