जबलपुर में थाना प्रभारी अरविंद चौबे सहित 05 पुलिसकर्मियों पर FIR दर्ज, कोर्ट ने दिया आदेश

जबलपुर,डेस्क रिपोर्ट। नरसिंहपुर जिले की जेएमएफसी कोर्ट ने जबलपुर के गोहलपुर थाने में पदस्थ टीआई अरविंद चौबे सहित 5 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने का आदेश दिया है। दरअसल मामला 3 साल पहले का है। प्रतिबंधात्मक मामले में 27 वर्षीय एक युवक को थाने में लाया गया था। उसी दौरान उसने जहर खाकर सुसाइड कर लिया। कोर्ट ने सभी पर बंधक बनाने, सुसाइड के लिए उकसाने का प्रकरण दर्ज करने का आदेश दिया है।

कटनी के वेयर हाउस से खराब चावलों की सप्लाई की शिकायत, भोपाल से जांच टीम पहुंची

नरसिंहपुर के प्रथम श्रेणी कोर्ट में यह प्रकरण चल रहा था, 3 साल चले मामले में कोर्ट ने तत्कालीन करेली थाना प्रभारी रहे अरविंद चौबे सहित पांच लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने का आदेश दिया है। कार्रवाई के लिए मौजूदा करेली थाना प्रभारी काे आदेश दिया है। नरसिंहपुर एसपी विपुल श्रीवास्तव के मुताबिक कोर्ट के आदेश पर करेली थाने में प्रकरण दर्ज किया जाएगा। यह मामला सितंबर 2018 का है। इस वक़्त अरविंद चौबे नरसिंहपुर जिले के करेली में पदस्थ था। उस दौरान इमझिरी निवासी अनुराग राजपूत को प्रतिबंधात्मक मामले में गिरफ्तार किया गया था। गिरफ्तारी की रात ही अनुराग ने पुलिस अभिरक्षा में जहर खा लिया। हालत बिगड़ी तो पहले उसे नरसिंहपुर और फिर जबलपुर रेफर किया गया। जहां मौत हो गई। उस समय एसपी रहे डीएस भदौरिया ने करेली टीआई अरविंद चौबे, एसआई जगदीश यादव, एएसआई बसंत शर्मा, आरक्षक बिरजू और राजकुमार काे निलंबित करते हुए न्यायिक जांच के आदेश दिए थे।

कांग्रेस विधायक के आरोपों बोले भाजपा सांसद, कहा-15 महीने हम भी हुए प्रताड़ित, एक बार नाम नहीं आया तो तिलमिला गए

वर्तमान में जबलपुर के गोहलपुर थाने की कमान संभाल रहे अरविंद चौबे के खिलाफ इस तरह का यह पहला मामला नही है , इससे पहले भी वह विवादों में रहे है। जबलपुर में ही बेलबाग में एक युवक को गांजा तस्करी में गिरफ्तार किए जाने के प्रकरण में परिजनों ने हाईकोर्ट में चुनौती दी थी। आरोप लगाया था कि युवक को घर से पकड़ कर पुलिस ने अपने पास से गांजा रखा था। इस मामले में हाईकोर्ट ने सीबीआई जांच के आदेश दिए हैं। सीबीआई जांच शुरू होने से पहले ही टीआई ने सुप्रीम कोर्ट से मामले में स्टे ले लिया है।