जबलपुर, संदीप कुमार। जबलपुर (Jabalpur) में झंडा सत्याग्रह समारोह का भव्य आयोजन किया गया। आजादी की 75 वी वर्षगांठ के मौके पर अमृत महोत्सव के अंतर्गत संस्कृति मंत्रालय भारत सरकार द्वारा झंडा सत्याग्रह समारोह के आयोजन का किया गया। बतादें कि जबलपुर से ही झंडा सत्याग्रह की शुरुआत हुई थी। जब 18 मार्च 1923 को देश में पहली बार झंडा फहराया गया था। जिसको लेकर ही झंडा दिवस मनाया जाता है। आज हुए कार्यक्रम के मौके पर केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद सिंह पटेल ने ध्वजारोहण कर झंडा सत्याग्रह की स्मृतियों को ताजा किया, इस अवसर पर जन प्रतिनिधियों के साथ राष्ट्रीय सेवा योजना मुक्त इकाई के स्वयंसेवक भी मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें… Betul Unlock : व्यापारियों को वैक्सीन लगवाना अनिवार्य, दस दिन के अंदर लगवाए टीका, एसडीएम के निर्देश

कार्यक्रम की शुरुआत शहर के तुलाराम चौक से शुरू हुई पदयात्रा के साथ हुई। पदयात्रा की अगुवाई मंत्री प्रह्लाद सिंह पटेल ने की। तुलाराम चौक से लेकर टाउन हॉल तक के मार्ग पर चारों ओर लहराते तिरंगों ने सारा माहौल देशभक्ति के रंग में रंग दिया। पदयात्रा में शामिल सभी सदस्यों ने हाथों में तिरंगा पकड़कर पद यात्रा में हिस्सा लिया। वहीं देशभक्ति गीतों की धुन के साथ निकलती पदयात्रा ने हर दिल को देशप्रेम भी भावना से ओतप्रोत कर दिया। इस अवसर पर वीडियो और चित्रकला प्रतियोगिताओं के विजेताओं को पुरस्कृत किया गया।

टाउन हॉल में प्राचीन चित्र, किताबों व नक्शों पर आधारित प्रदर्शनी का आयोजन किया गया। केंद्रीय मंत्री पटेल ने इस मौके पर युवाओं को अमृत महाउत्सव से प्ररेणा लेने की बात कही। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि क्रांतिकारियों के परिजनों का सम्मान कर गोरवान्वित महसूस कर रहे हैं। आने वाले सालों में अमृत महाउत्सव का संकल्प जरूर पूरा होगा।

जबलपुर संस्कारधानी में झंडा सत्याग्रह समारोह का भव्य आयोजन, यह रहा है झंडा सत्याग्रह इतिहास