Tokyo Olympics : महिला हॉकी टीम की जीत पर बोली पूर्व राष्ट्रीय महिला हॉकी खिलाड़ी मधु यादव, आज देश के लिए सुनहरा दिन

महिला हॉकी खिलाड़ियों की हौसला अफजाई करते हुए कहा कि आज का दिन सुनहरे इतिहास के पन्नो में लिखा जाएगा, उन्होंने कहा कि ओलंपिक में गोल्ड की प्रबल दावेदार ऑस्ट्रेलिया टीम थी।

जबलपुर, संदीप कुमार। टोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympics) में आज भारतीय महिला हॉकी टीम (Indian women’s hockey team) ने गोल्ड की प्रबल दावेदार टीम ऑस्ट्रेलिया को हराकर इतिहास रचा है। क्वार्टर फाइनल में ऑस्ट्रेलिया को 1-0 से भारत ने हरा दिया है और 1982 के बाद अब ओलंपिक के सेमीफाइनल में जगह बनाई है।

यह भी पढ़ें…Indore News : पंचायत कर्मचारियों ने सीएम और सरकार के खिलाफ फोड़ी मटकियां

1987 और 1991 में भारतीय टीम का प्रतिनिधित्व कर चुकी पूर्व महिला हॉकी खिलाड़ी मधु यादव ने महिला हॉकी खिलाड़ियों की हौसला अफजाई करते हुए कहा कि आज का दिन सुनहरे इतिहास के पन्नो में लिखा जाएगा, उन्होंने कहा कि ओलंपिक में गोल्ड की प्रबल दावेदार ऑस्ट्रेलिया टीम थी। जो कि तेजी से बढ़ भी रही पर भारत ने उनके अभियान को खत्म कर दिया है। पूर्व भारतीय हॉकी खिलाड़ी मधु यादव ने कहा कि हमारे खिलाड़ियों ने शुरू से ही ऑस्ट्रेलिया पर दवाब बनाकर रखा जिसका नतीजा यह रहा कि हमे जीत मिली। भारतीय खिलाड़ी मधु यादव ने महिला हॉकी टीम की जीत का श्रेय खिलाड़ियों का साथ साथ विदेशी कोच को भी दिया है, विदेशी कोचों की मदद से खिलाड़ियों का मनोबल बढ़ा और वहीं आज काम आया कि भारतीय हाकी टीम ने कई सालों बाद ओलंपिक के सेमी फाइनल में जगह बनाई है। जिस तरह से भारतीय महिला हाकी खिलाड़ियों ने अपनी ताकत दिखाते हुए जीत हासिल की है वो बता रहा है कि दिन प्रतिदिन उनके खेल में निखार आ रहा है। मधु यादव ने बताया कि 1982 में भी महिला हॉकी खिलाड़ियों ने पदक लाया था और उसके बाद अब आज का दिन है जब महिला हॉकी खिलाड़ियों ने ओलंपिक में मेडल पक्का किया है।

यह भी पढ़ें…हरसी बांध का बढ़ रहा जलस्तर, प्रशासन ने किया 24 गांवों में अलर्ट जारी