मुम्बई के income tax assistant commissioner के साथ जबलपुर में फर्जीवाड़ा

जबलपुर,डेस्क रिपोर्ट। मुंबई के सहायक आयकर आयुक्त प्रियंक जैन के साथ जबलपुर मे फर्जीवाड़ा कर दिया गया, उन्हे तीन लोगों ने फर्जी शपथ पत्र पकड़ा दिया, इस मामले का खुलासा उस वक्त हुआ है, जब कोर्ट में उनकी पत्नी के वकील ने इसे मुद्दा बनाया, इस बात से अंजान प्रियंक जैन ने जानकारी में मामला आने के बाद इस मामले की शिकायत कोतवाली थाना में दर्ज कराई है, जिस पर प्रकरण दर्ज कर लिया गया है।

जनजातीय नागरिकों के विकास के लिए होंगे सभी प्रयास, बैठक में CM ने दिए निर्देश

प्रियंक जैन के खिलाफ उनकी पत्नी ने घरेलू हिंसा का केस लगाया है, जिसके चलते उन्हे अपनी आय, संसाधनों व जिम्मेदारियों के बाद शपथ कोर्ट में देना था। दरअसल  प्रियंक जैन मुम्बई स्थित इंटरनेशनल कराधान सर्किल टू में सहायक आयकर आयुक्त है, जिनके खिलाफ लखनऊ की रहने वाली उनकी पत्नी तन्वी जैन  ने घरेलू हिंसा का केस लखनऊ में लगाया है, वहां कोर्ट में प्रियंक को शपथ पत्र देकर अपनी आय, संसाधनों व जिम्मेदारियों की जानकारी देना थी, जिसके चलते उन्होने 28 अगस्त को बल्देवबाग स्थित आरएस ऑनलाइन से शपथ पत्र बनाया, यहां के संचालक सुमित जैन ने स्टाम्प पेपर मुहैया कराया था, सुमित ने नोटरी के लिए आरएस ऑनलाइन के कार्यालय में बैठने वाले आनंद मोहन चौधरी से परिचय करया सभी का काम आनंद मोहन चौधरी ही करते रहे, आनंद मोहन ने स्टाम्प पेपर पर नोटरी की टिकट लगाई, तारीख, नाम व नोटरी की सील लगाई एक रजिस्टर में हस्ताक्षर भी करा लिए, दो सितम्बर को ये शपथ पत्र प्रियंक जैन को दे दिया, जिसे उन्होने लखनऊ कोर्ट में जमा करा दिया, बाद में लखनऊ में उनकी पत्नी तन्वी के वकील ने प्रियंक जैन के नोटरी पत्र की वैधानिकता को चैलेज कर दिया, यहां पर आनंद मोहन ने कह दिया कि उन्होने प्रिंयक जैन को कोई नोटरी शपथ पत्र दिया ही नहीं है।

बैतूल पुलिस के हत्थे चढ़ी वाहन चोर गैंग, 25 गाड़िया बरामद

प्रियंक जैन इस तरह की बात सामने आने के बाद हैरान रह गए, मामले में आरएस ऑनलाइन कार्यालय आए तो पता चला कि नोटरी करने वाले का नाम प्रतीक जैन है जो आनंद मोहन चौधरी के नाम से नोटरी करता रहा, जिसके लिए वह आनंद मोहन को दस हजार रुपए प्रतिमाह देता है, जिसके चलते प्रतीक जैन द्वारा आनंद मोहन की सील, मोहर व नाम का उपयोग करता है, जबलपुर लौटकर आए प्रियंक जैन ने प्रतीक जैन, आनंद मोहन व आरएस ऑन लाइन के संचालक सुमित जैन के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई, जिसपर पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर लिया है।