जबलपुर मे दसवी की छात्रा के साथ गैंगरेप का मामला , पाँच आरोपी सात महीने से लगातार कर रहे थे दुष्कर्म

पाँच आरोपियों मे से चार नाबालिग , असलील विडिओ बनाने के बाद वायरल करने की धमकी देकर कर रहे थे लगातार दुष्कर्म

जबलपुर,संदीप कुमार। मध्यप्रदेश के जबलपुर स्थित केन्ट क्षेत्र में दसवीं कक्षा की छात्रा के साथ गैंगरेप का मामला सामने आया है, नाबालिग का अपहरण कर एक युवक ने अपने चार नाबालिग दोस्तों के साथ गैंगरेप किया, आरोपी छात्रा को वीडियो वायरल करने की धमकी देकर आरोपी अपने साथ ले गए थे। परिजनों के साथ थाना पहुंची पीडि़ता ने पुलिस को घटनाक्रम की जानकारी दी, जिस पर पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर आरोपियों को तलाश करते हुए गिरफ्तार कर लिया।

अश्लील फिल्मों का कारोबार, दबाव डालकर ऐसे बनवाई जाती थी पोर्न फिल्में

केंट टीआई विजय तिवारी ने अनुसार  सदर क्षेत्र में रहने वाली दसवीं कक्षा की छात्रा के माता-पिता मजदूर है, छात्रा को करीब सात माह पहले क्षेत्र में ही रहने वाले एक नाबालिग ने अपने प्यार में जाल में फंसा लिया, इसके बाद छात्रा के साथ बलात्कार किया, इस दौरान नाबालिग ने छात्रा का अश्लील वीडियो भी बना लिया, यह वीडियो नाबालिग ने अपने दोस्त शफीक व तीन अन्य नाबालिग दोस्तों को वायरल कर दिया, इसके बाद इन पांच दोस्तों ने मिलकर छात्रा  को वीडियो वायरल करने की धमकी देते हुए शारीरिक शोषण करना शुरु कर दिया, जब भी मौका मिलता आरोपी विडिओ वायरल करने की धमकी देकर छात्रा का रेप करते , दो दिन पूर्व  दोपहर मे एक बजे के लगभग छात्रा घर से सदर बाजार जाने के लिए निकली, इस दौरान पांचो दोस्तों ने छात्रा को रोककर अपने साथ चलने के लिए कहा, जिस पर छात्रा ने मना किया तो उसने वीडियो वायरल करने की धमकी देकर बाईक में बिठाकर रामपुर स्थित एक निर्माणाधीन मकान में ले गए, जहां पर पांचों  ने सामूहिक रुप से छात्रा के साथ रेप किया, करीब पांच घंटे तक अपनी हवस का शिकार बनाने के बाद आरोपियों ने छात्रा को उसके घर के पास छोड़ा और भाग निकले।

रात में जब परिजन घर वापस आए तो बेटी की हालत में देखकर स्तब्ध रह गए, बेटी से  पूछताछ करने पर छात्रा ने गैंगरेप होने की जानकारी दी, इसके बाद परिजन तत्काल ही केन्ट थाना पहुंचे और पुलिस को घटनाक्रम के बारे में बताया, पुलिस ने मामले को गंभीरता से लेते हुए सभी के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर हिरासत में ले लिया है.  पुलिस को पूछताछ में यह जानकारी लगी है कि पकड़े गए आरोपियों की पृष्ठभूमि मजदूर है, तीन की मां घरों में झाड़ू पोंछा का काम करती है एक के पिता ठेके पर मजदूर उपलब्ध कराते है, सभी आरोपी स्कूल से पढ़ाई छोड़ चुके है।

पुलिस अधिकारियों का कहना है कि पकड़े गए आरोपी शफीक व उसका एक नाबालिग साथी पूर्व में भी छात्रा का अपहरण कर चुका है, इस मामले में पुलिस ने दोनों के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर कार्रवाई की थी। इसके बाद भी वे छात्रा को वीडियो वायरल करने की धमकी देते रहे।