Jabalpur News: जबलपुर पुलिस की बड़ी कार्रवाई, शराब पार्टी करते एडिशनल SP के बेटे सहित युवक- युवतियां गिरफ्तार

Jabalpur News : मध्यप्रदेश के जबलपुर में पुलिस ने हाईप्रोफाइल पार्टी पर बड़ी कार्रवाई की है। इस दौरान पुलिस ने  नशे में चूर एक दर्जन से अधिक युवाओं को दबोचकर, डीजे और शराब की बोतले जब्त की है। जिसकी कीमत करीब 88 हजार रुपये बताई जा रही है। बता दें इस कार्रवाई ने पूर्व एएसपी राजेश तिवारी के बेटे राहुल को भी पुलिस ने गिरफ्तार किया है। साथ ही, शहर के अनेक उद्योगपति, बिल्डर, वकील और डॉक्टरों के बेटे भी इस पार्टी में कुछ युवतियों के साथ शिरकत कर रहे थे।

मुखबिर से मिली थी सूचना

दरअसल, जबलपुर के गोरखपुर स्थित रितिक अपार्टमेंट में देर रात पुलिस ने हाईप्रोफाइल शराब पार्टी पर बड़ी कार्रवाई करते हुए नशे में चूर एक दर्जन से अधिक युवाओं को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस की जानकारी के अनुसार, मुखबिर से सूचना मिली थी कि रितिक अपार्टमेंट में खुलेआम अवैध रुप से शराब परोसी जा रही है। इतना ही नहीं युवतियों के साथ युवक, खुलेआम शराब पार्टी भी कर रहे है। जिसके बाद पुलिस की टीम ने घेराबंदी कर राजेन्दर सिंह राजपूत, गोपाल सदन, अशीम चंसोरिया, अनुज अवस्थी, रोहित खरे, एकता, राहुल खरे, शोभित आनन्द, असत कुमार, राहुल तिवारी, अर्पित अग्रवाल, प्राणत नागरथ को गिरफ्तार कर लिया है। इस कार्रवाई में डीजे और शराब की बोतले सहित कुल 88 हजार का माल जब्त किया गया है।

पूर्व एएसपी ने की मिन्नतें

बता दें कार्रवाई के दौरान जैसे ही पुलिस ने घेराबंदी की वैसे ही नशे में चूर युवाओं का नशा उतर गया और वह भागने लगे। जिसके बाद पुलिस ने नशेडियों को धर- दबोचा। जिसमें पूर्व एएसपी राजेश तिवारी का बेटा राहुल तिवारी पहले तो बहस करने लगा लेकिन जब पुलिस अपने फार्म में आई तो आरोपी मिन्नतें कर गिड़गिड़ाने लगा। उसका कहना था कि पुलिस एक बार पापा से बात कर लें तो अच्छा होता। हालांकि, पुलिस ने किसी की नहीं सुनी और तत्काल कार्रवाई कर सभी आरोपियों को दबोच लिया।

नए साल को लेकर पुलिस सख्त

नए वर्ष 2023 को लेकर पुलिस मुस्तैद है, जिसके चलते अवैध शराब पार्टियों में अंकुश लगाकर क्राइम के बढ़ रहे ग्राफ को देखते हुए कार्रवाई का सिलसिला जारी है। पुलिस लगातार होटल, रेस्टॉरेंट में दबिश दे रही है ताकि न्यू ईयर पार्टी सेलिब्रेशन में किसी प्रकार की अप्रिय स्थिति घटित ना हो।

जबलपुर से संदीप कुमार की रिपोर्ट