होटल संचालक ऋषि असाटी हत्या मामले में आया एक और नया मोड़

जबलपुर।

एक सप्ताह पहले ढाबा संचालक ऋषी असाटी की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।हत्या में ऋसभ शर्मा का नाम सामने आया।पुलिस के हाथ मे ऋसभ तो आया नही पर गोसलपुर थाना पुलिस ने ऋसभ के साथी रहे ढाबा संचालक सतीश चौरसिया को शक के बिना  पर हिरासत में लिया था।आज सतीश के ही ढाबे में काम करने वाले मिंटू पटेल का शव ढाबे में लटकता मिला है। जिसके बाद अब पुलिस के सामने जाँच के लिए ये समस्या और बढ़ गई है कि आखिर मिंटू ने आत्महत्या क्यो की।दर्शल बुढागर गांधीग्राम में पिछले शनिवार को ऋषि असाटी की घर के दरवाजे पर ही माथे में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।इसी का सुराग लगाने पुलिस ने हत्याकांड में शामिल होने के संदेह पर सतीश चौरसिया को हिरासत में लिया हुआ है।आज उसी सतीश के ढाबे में काम करने वाले सुरेश उर्फ मिंटू पटेल (31वर्ष) ने फांसी लगाकर ढाबा के भीतर ही आत्महत्या कर ली।मृतक ढाबा में ही रहता था। फिलहाल ढाबे में शव मिलनेे की सूचना मिलते ही गोसलपुर थाना पुलिस मौके पर पहुंच कर जांच में जुटी।बताया जा रहा है कि सतीश को पुलिस के द्वारा हिरासत में लेने के बाद से ही ढाबा बंद था।फिलहाल पुलिस अब ऋषि की हत्या के साथ साथ मिंटू पटेल की मौत  की वजह भी तलाशने में जुट गई है।