महिला से मारपीट कर रहा पति, Police नहीं कर रही कोई कार्रवाई, मदद के लिये स्थानीय महिलाओं ने उठाये लाठी-डंडे

महिला की मदद करने के लिए स्थानीय महिलाओं ने पहले तो उसके पति को समझाया और जब वह नहीं समझा तो महिलाओं ने माढ़ोताल थाने का घेराव किया।

जबलपुर, संदीप कुमार। जिले के माढ़ोताल में रहने वाली एक महिला को उसका पति बीते कई माह से प्रताड़ित कर रहा था। पति से परेशान कई बार महिला ने माढ़ोताल थाना पुलिस में इसकी शिकायत भी करवाई थी। लेकिन, नतीजा कुछ नहीं  मिला। जिसके बाद पति-देवर से लगातार प्रताड़ित हो रही पत्नी ने आखिरकार क्षेत्र की ही कुछ महिलाओं की मदद ली। महिला की मदद करने के लिए स्थानीय महिलाओं ने पहले तो उसके पति को समझाया और जब वह नहीं समझा तो महिलाओं ने माढ़ोताल थाने का घेराव किया। इस दौरान महिलाओं के हाथों में लाठी डंडे भी थे।

ये भी पढे़- By Election – बेटे ने दिखाए पिता के संस्कार, सिद्धार्थ करेंगे बीजेपी का प्रचार

पति कर रहा है परेशान-पुलिस भी नही सुनती फरियाद
माढ़ोताल निवासी साधना सिंह ने बताया कि उसका पति उसे बीते कई माह से लगातार प्रताड़ित कर रहा है। किसी तरह अपना घर परिवार चलाने के लिए महिला ने एक छोटी सी चक्की खोल रखी थी। लेकिन, कुछ दिन पहले उसके पति-देवर ने मिलकर जबरन उस चक्की को भी बंद करवा दिया। जिसके चलते पारिवारिक हालात धीरे-धीरे बिगड़ने लगे, इधर महिला के द्वारा कई बार माढ़ोताल थाना पुलिस में शिकायत भी दर्ज करवाई गई पर पुलिस ने महिला की एक ना सुनी।

माढ़ोताल थाना प्रभारी पर भी गंभीर आरोप
पीड़ित महिला साधना राजपूत ने बताया कि शिकायत के बाद महज कुछ देर के लिए उसके पति को थाने में रखा जाता है। फिर महिला का देवर आकर उसे छुड़ा ले जाता है।  शिकायतकर्ता साधना राजपूत ने बताया कि उसके पति को छोड़ने के एवज में थाना प्रभारी ने भी अच्छी खासी रकम महिला के देवर से ली है, इतना ही नहीं महिला का यह भी आरोप है कि आए दिन उसका पति और देवर उसे जान से मारने की धमकी देते हैं और पुलिस अनसुनी कर रही है।

ये भी पढे़- JU में अश्लील वीडियो देखने वाले कर्मचारियों को हटाने की मांग, ABVP ने किया प्रदर्शन

अब नहीं किया जाएगा बर्दाश्त
बीते कई दिनों से साधना राजपूत को उसके पति और देवर  द्वारा प्रताड़ित किया जा रहा है। परिवार चलाने के लिए घर पर एक छोटा सा व्यवसाय खोल रखा था, पर 15 दिन पहले उस व्यवसाय को भी जबरन उसके पति और देवर ने बंद करवा दिया। इतना ही नहीं घर की बिजली तक काट दी। जिसके चलते आज महिला अंधेरे में रहने को मजबूर हैं। इधर, महिला की शिकायत जब पुलिस के द्वारा नहीं सुनी गई तो  स्थानीय महिलाऐं अपने हाथों में लाठी- डंडे लेकर थाने पहुंची और पुलिस को हिदायत दी है कि अगर उनकी सुनवाई नहीं होती है, तो फिर वो स्वयं कानून हाथ में लेकर महिला की मदद करेंगे।