आजादी के ज़श्न में भूले कोरोना गाइडलाइन का पालन, पुलिस और प्रशासन से हुई चूक

जबलपुर,संदीप कुमार। कोरोना संक्रमण के बीच कोविड गाइडलाइन का पालन करते हुए देश भर में 75 वां स्वतंत्रता दिवस देशवासी मना रहे है, सरकर के निर्देशानुसार कोरोना से बचाव को लेकर यह स्वतंत्रता दिवस मनाना था, पर इसके उल्ट मध्यप्रदेश के जबलपुर में अधिकारियों ने ही कोरोना गाइडलाइन की जमकर धज्जियां उड़ाई, जबलपुर शहर के रविशंकर शुक्ल स्टेडियम में मुख्य अतिथि के बीच ही सैकड़ो लोगों की भीड़ देखी गई, दरअसल जबलपुर में स्वतंत्रता दिवस के कार्यक्रम में लोकनिर्माण और जबलपुर प्रभारी मंत्री गोपाल भार्गव शामिल हुए और उन्होंने ने जिला प्रशासन के करीब 160 से ज्यादा अधिकारी- कर्मचारियों को सम्मानित किया, सम्मान के दौरान सभी लोग भूल गए कि कोरोना गाइडलाइन का पालन किया जाना जरूरी है।

सिंधिया समर्थक मंत्री से नाराज हुए दमोह के भाजपाई, बीच कार्यक्रम छोड़कर लौटे

अधिकारी-कर्मचारियों ने अपने सम्मान समारोह में परिवार वाले और साथियों को ही कार्यक्रम स्थल पर बुला लिया और जब भीड़ बढ़ी तो कोरोना गाइडलाइन की जमकर धज्जियां उड़ाई गई, पूरे कार्यक्रम के दौरान प्रभारी मंत्री गोपाल भार्गव के साथ मंच पर प्रशस्ति पत्र बांटते हुए कलेक्टर,एसपी समेत जिले के तमाम अधिकारी मौजूद रहे जो की खुद सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराना भूल गए। कहा जा सकता है कि अगर ऐसा दृश्य आम आदमी के कार्यक्रम में देखा जाता तो निश्चित रूप से पुलिस प्रशासन कोरोना गाइडलाइन के उल्लंघन के तहत कार्यवाही करता,सड़क पर चलने वाला व्यक्ति अगर मास्क नही पहनता तो पुलिस कार्यवाही करती, अच्छा खासा चालान भी काटा जाता पर इस सरकारी कार्यक्रम में ऐसा कुछ नही हुआ क्योकि मंत्री और अधिकारी यहाँ मौजूद थे।बहरहाल करीब 2 घण्टे तक स्वतंत्रता दिवस का ये कार्यक्रम हुआ और भीड़ भाड़ भी खूब देखी गई।