पश्चिम मध्य रेल्वे में भी लोग ट्रेन के डिब्बे में उठायेगे रेस्टोरेंट का लुत्फ, पुराने कोच होंगे रेस्टोरेंट में तब्दील

जबलपुर,संदीप कुमार।  पश्चिम मध्य रेलवे (पमरे) ने अतिरिक्त राजस्व और लोगों को कोच रेस्टोरेंट में लजीज व्यंजन का लुत्फ उठाने का मौका देने जा रही है। इसके लिए जबलपुर रेलव मंडल के जबलपुर, मदनमहल सहित पांच स्टेशनों और भोपाल रेल मंडल के भोपाल व इटारसी स्टेशनों पर रेल कोच रेस्टॉरेंट खोलने जा रही है। रेलवे के पुराने कोच को आकर्षक रेस्टॉरेंट में तब्दील किया जाएगा।

थर्ड जेंडर मामले में परिपालन रिपोर्ट पेश करने मिली मोहलत, अगली सुनवाई 5 अक्टूबर को

पमरे जीएम शैलेंद्र कुमार सिंह के मुताबिक गैर किराया राजस्व के तहत पमरे को सात रेल कोच रेस्टारेंट से 5 करोड़ रुपए की आमदनी होगी। वाणिज्य विभाग के अधिकारी व कर्मचारयों ने रेल कोच रेस्टॉरेंट की थीम को आगे बढ़ाया है। पमरे ने जबलपुर और भोपाल रेल मंडल के सात स्टेशनों पर रेल कोच रेस्टॉरेंट स्थापित करने के लिए अनुबंधों को अंतिम रूप दिया गया है।

अब उमा भारती ने सत्ता में बैठे कुछ नेताओं को बताया निकम्मा, Congress ने कसा तंज

रेल कोच रेस्टॉरेंट नया अनुभव देंगे
यह रेल कोच रेस्टॉरेंट लोगों को नया अनुभव देंगे। शहर को एक नयी पहचान भी मिलेगी। लाइसेंसधारी द्वारा ही पुराने कोच को आकर्षक बनाकर रेल कोच रेस्टॉरेंट में तब्दील किया जाएगा। यह कोच रेलवे की सम्पति रहेगी। पांच साल के अनुबंध पर यह दिया जाएगा। रेल कोच रेस्टॉरेंट के लिए 1200 वर्गफीट क्षेत्र उपलब्ध कराया गया है। इससे रेलवे को लगभग पांच करोड़ रुपए की आमदनी होगी।

बैकफुट पर उमा भारती, Tweet कर दी यह सफाई

जबलपुर रेल मंडल में पांच स्टेशनों का चयन
गैर किराया राजस्व योजना के तहत जबलपुर रेल मंडल ने जबलपुर, मदनमहल, कटनी, मुड़वारा, सतना और रीवा स्टेशनों के सर्कुलेटिंग एरिया में रेल कोच रेस्टॉरेंट के लिए अनुबंध किया है। 05 वर्ष की अवधि के लिए रेलवे को कुल 3.33 करोड़ रुपए मिलेंगे। मुख्य स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर 6 के बाहर मालगोदाम रोड के किनारे रेलवे की पुरानी कॉलोनी वाली जगह पर इसे स्थापित किया गया है। इसी तरह मदनमहल स्टेशन के बाहर भी रेल कोच रखवाया गया है।

लाखों रुपए है किराया
जबलपुर स्टेशन के लिए 13 लाख रुपए प्रतिवर्ष।
मदनमहल स्टेशन के लिए 08.20 लाख रुपए प्रतिवर्ष।
कटनी मुड़वारा स्टेशन के लिए 18.20 लाख रुपए प्रतिवर्ष।
सतना स्टेशन के लिए 16.80 लाख रुपए प्रतिवर्ष।
रीवा स्टेशन के लिए 06.57 लाख रुपए प्रतिवर्ष।
भोपाल स्टेशन के लिए 11.74 लाख रुपए प्रतिवर्ष।
इटारसी स्टेशन के लिए 17.69 लाख रुपए प्रतिवर्ष।

24 घंटे मिलेगी भोजन की व्यवस्था
इस रेल कोच रेस्टाॅरेंट में 24 घंटे भोजन की व्यवस्था उपलब्ध रहेगी। रेल उपयोगकर्ताओं के साथ-साथ आम शहरवासी भी इस रेल कोच रेस्टॉरेट में लजीज व्यंजन का लुत्फ उठा पाएंगे। रेल कोच रेस्टॉरेंट पयर्टन को भी आकर्षित करने में कारगर होगी।