कांग्रेस नेताओ के परिवार को टिकिट देना जरूरी भी, मजबूरी भी : डॉ नरोत्तम मिश्रा

गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। कांग्रेस द्वारा निकाय चुनाव में विधायक व नेताओ के परिवार को टिकिट देने के फैसले पर गृह मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा ने तंज़ कसा है। उन्होंने कहा है कि कांग्रेस के पास केवल नेता है कार्यकर्ता बचे ही नही है। अब बचे नेताओ व उनके परिवार को ही टिकिट देना कांग्रेस की मजबूरी है।वैसे भी कांग्रेस तो परिवारवाद की पोषक है।

यह भी पढ़ें…. Share Market : खुलते ही बाजार धड़ाम, जानिए Sensex और Nifty का हाल

गृह मंत्री डॉ मिश्रा ने मीडिया से चर्चा करते हुए कहा कि वर्तमान में कांग्रेस कि स्थिति बड़ी दयनीय हो गयी है। कांग्रेस के पास आज कार्यकर्ता बचे नही है जो है वह सब नेता है। चुनाव में टिकिट तो देना है फिर कांग्रेस के पास इन नेताओं और उनके परिवार को टिकिट देने के अलावा क्या विकल्प बचता है।नेताओ व उनके परिवार को टिकिट देना कांग्रेस जरूरी भी है और मजबूरी भी है।

डॉ मिश्रा ने कहा कि काँग्रेस कभी भी परिवारवाद से मुक्त नही हो सकती है। जिस पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष ही परिवारवाद का पोषक हो तो फिर कमलनाथ जी हो या कोई और सभी इसी राह पर चलना होगा। उन्होंने कहा कि जब गंगा, गंगोत्री में ही अपवित्र हो जाय तो आगे भी वह ऐसे ही रहेगी। ऊपर से परिवाद वाद चल रहा है तो फिर नगर निगम हो , नगर पालिका हो या पंचायत चुनाव हो सब जगह आप परिवार वाद देखेंगे।

यह भी पढ़ें…. जम्मू – कश्मीर : कुलगाव में एक और गैर-कश्मीरी पर हमला, बैंक मैनेजर को मारी गोली

कांग्रेस आचार संहिता में रैली निकालने पर आपत्ति करने के सवाल पर गृह मंत्री ने कहा कि चुनाव में तो रैली  निकलती है सभा भी होती है।दरअसल कांग्रेस के पास जन समर्थन बचा नही है उनकी रैली शुरू होने से पहले ही खत्म हो जाती है इसलिए बीजेपी के विशाल रैलियां देख कर कांग्रेस बौखला जाती है और अनर्गल आरोप लगाने लगती है।उन्होंने कहा कि कांग्रेस को समझना चाहिए कि धूल चेहरे पर है , आईना फोड़ने से कुछ नही होने वाला है।