जबलपुर, संदीप कुमार। संस्कारधानी जबलपुर (jabalpur) अब धीरे-धीरे अपराध की राजधानी (crime capital) में तब्दील होने लगा है।  हत्या- लूट-चोरी होना अब जबलपुर में आम हो गया है। गोरा बाजार के बाद अब रांझी में भी एक युवक की चाकू से गोदकर हत्या (muder) कर दी गई। विवाद की वजह सिर्फ इतनी थी कि आरोपी को गाली देने (abusive words) से मृतक ने मना किया था जिसके चलते आवेश में आकर आरोपी ने मृतक पर चाकुओं से ताबड़तोड़ हमला कर उसकी हत्या कर दी।

यह भी पढ़ें… सिंधिया की सुरक्षा में बड़ी चूक, मूकदर्शक बन देखती रही पुलिस

मृतक ने आरोपी को गाली देने से किया मना-घोंप दिया चाकू
जानकारी के मुताबिक गुरुवार की रात झंडा चौक बड़ा पत्थर में रहने वाले मृतक संजय कौल ने अपने ही पड़ोस में रहने वाले मुंडा को मोहल्ले में गाली देने से मना किया जिस पर बदला लेने के लिए शुक्रवार को आरोपी मुंडा अपने एक साथी के साथ संजय के घर पहुंचा और उस पर चाकू से हमला कर दिया। संजय को घायल अवस्था में छोड़कर आरोपी मौके से फरार हो गए वहीं स्थानीय लोग संजय को रांझी अस्पताल ले गए जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

मृतक संजय की बहन आरती ने बताया कि आरोपी मुंडा और मृतक संजय दोनों आपस में अच्छे दोस्त थे दोनों साथ में ही अक्सर बैठकर खाना पीना भी किया करते थे, घटना वाले दिन आरोपी गाली गलौज कर रहा था जिस पर की संजय ने मना किया तो उसे चाकू घोंप दिया अधिक शरीर से खून बह जाने के कारण संजय की मौत हो गई।

आरोपी फरार पुलिस कर रही है तलाश
आरोपी मुंडा संजय की हत्या करने के बाद मौके से फरार हो गया वहीं सूचना के बाद रांझी थाना पुलिस घटनास्थल पर पहुंची और आरोपी के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर तलाश शुरू कर दी है इधर घटना के बाद से पड़ोस में शोक की लहर व्याप्त है।

यह भी पढ़ें… सड़कों पर प्रशासनिक अमला, दुकानदारों को फूल देकर कोरोना गाइडलाइन का पालन कराने की अपील

हर तीसरे दिन हो रही है जबलपुर में हत्या
अनलॉक होते ही जबलपुर में अचानक से ही अपराध के ग्राफ में तेजी आ गई है पहले गढ़ा उसके बाद गोरा बाजार और अब रांझी में चाकूबाजी की घटना से समूचा जिला दहला हुआ है, ऐसे में कहीं न कहीं पुलिस की गश्त पर भी सवाल उठने लगे हैं कि पुलिस अपराधियों के प्रति खौफ पैदा करने में नाकाम साबित हो रही है।