जबलपुर : सरकारी अस्पताल में न मिला डाक्टर न मिली एम्बुलेंस, मरीज की हुई मौत

जबलपुर, संदीप कुमार।  मध्यप्रदेश की स्वास्थ्य व्यवस्था कितनी लचर है यह आज एक बार फिर देखने को मिला, जब जबलपुर के पाटन शासकीय सामुदायिक अस्पताल में, जहां पर बीमार मरीज को अस्पताल में देखने के लिए डॉक्टर नही था। समय पर मरीज को इलाज नहीं मिला जिसके चलते उसकी मौत हो गई। मरीज की मौत के बाद परिजनों ने शासकीय अस्पताल में जमकर हंगामा मचाया।

यह भी पढ़ें…. हाईकोर्ट ने दी बड़ी राहत, राज्य सरकार को दिए ये आदेश, 12 हफ्तों में होगा बकाया वेतन और अन्य भत्ते का भुगतान

परिजनों का आरोप है कि टीकाराम रैकवार के सीने में दर्द हुआ था जिसे की इलाज के लिए पाटन सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लेकर आया पर वहां उनका उपचार नर्सो ने किया। परिजन बार-बार बीमार टीकाराम को मेडिकल कॉलेज ले जाने की बात अस्पताल में मौजूद स्टाफ से करते रहे पर अस्पताल से मेडिकल कॉलेज ले जाने के लिए कोई वाहन अस्पताल में मौजूद नहीं था। इतना ही नहीं जब जननी एक्सप्रेस से ले जाने की बात परिजनों ने की तो यह कह दिया कि अभी ड्राइवर नहीं है आखिरकार कुछ ही देर में बीमार टीकाराम की मौत हो गई जिसके बाद परिजनों ने अस्पताल में जमकर हंगामा मचाया। इधर लगातार बढ़ते विवाद को देखते हुए पुलिस का अमला भी अस्पताल पहुंच गया और नाराज परिजनों को समझाइश देता रहा।