जबलपुर डबल मर्डर केस : मां-बेटी की हत्या कर जमीन में दफनाया, पुलिस जांच में जुटी

गुमशुदगी की शिकायत परिजनों ने बरेला थाने में भी की थी। पुलिस मां-बेटी को तलाश कर ही रही थी कि तभी आज सूचना मिली की महगवां-कैनाल के किनारे लापता मां-बेटी का शव दफन है।

Jabalpur Crime News

जबलपुर, संदीप कुमार। जबलपुर (Jabalpur) के महगवां-कैनाल के पास उस समय सनसनी फैल गई, जब वहां पर मां-बेटी (Mother-Daughter Dead Body) की जमीन में दफन लाश मिली। बताया जा रहा है कि मां-बेटी करीब 10 दिनों से लापता थी। जिनकी गुमशुदगी की शिकायत परिजनों ने बरेला थाने में भी की थी। पुलिस मां-बेटी को तलाश कर ही रही थी कि तभी आज सूचना मिली की महगवां-कैनाल के किनारे लापता मां-बेटी का शव दफन है।

यह भी पढ़ें…Gold Silver Rate : चांदी की कीमत में तेजी, सोना पुराने रेट पर, जानिए ताजा रेट

जानकारी के अनुसार महगवां कैनाल के पास मां-बेटी का शव दफन है यह सूचना मिलते ही बरेला थाना स्टाफ सहित अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक संजय अग्रवाल एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा के निर्देश पर मौके पर पहुंचे। वहीं जब घटना स्थल पर जाकर शवों की जांच की गई तो उनकी पहचान बबली झारिया और उसकी 20 साल की बेटी निशा झारिया के रूप में हुई जिनका शव जमीन में दफन था। जिसके बाद तहसीलदार की उपस्थिति में शवों को बाहर निकलवाया गया। जानकारी के मुताबिक मृतक बबली झारिया आंगनबाड़ी में कार्यकर्ता है और करीब 1 हफ्ते से वह अपनी बेटी के साथ लापता हो गई थी।

इस पूरे मामले की जांच कर रही पुलिस ने परिजनों और रिश्तेदारों के बयान दर्ज किए हैं। साथ ही कुछ संदेहियों को भी पुलिस ने हिरासत में लिया है। जानकारी के मुताबिक 40 वर्षीय बबली झारिया अपनी 20 वर्षीय बेटी निशा के साथ बरेला में रहा करती थी। करीब एक हफ्ते पहले अचानक ही मां-बेटी लापता हो गई। जिनका शव आज कैनाल के किनारे जमीन में दफन मिला है। फिलहाल पुलिस इस पूरे घटनाक्रम की जांच में जुट गई है।

यह भी पढ़ें… Gwalior News : गुरुद्वारा दाताबंदी छोड़ पर मत्था टेका सिंधिया ने, बोले सिख समाज का सेवा भाव, प्रेम की सीख देता है