हमीदिया हॉस्पिटल में आग लगने के हादसे से सचेत हुआ जबलपुर स्वास्थ्य विभाग, की यह तैयारियां

नवजात शिशु गहन चिकित्सा इकाई का निरीक्षण किया इस दौरान उन्होंने अस्पताल में तैनात स्टाफ को शक्ति से निर्देश दिए हैं कि किसी भी तरह की नवजात शिशुओं से संबंधित लापरवाही ना बरती जाए।

जबलपुर, संदीप कुमार। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) की राजधानी के हमीदिया अस्पताल (Hamidia Hospital) में सोमवार की शाम आग लगने के कारण 4 नवजात बच्चों की असमय मौत हो गई। इस घटना के बाद अब प्रदेश भर का स्वास्थ्य महकमा (Health Department) अलर्ट हो गया है जबलपुर (Jabalpur) संभाग के ज्वाइंट डायरेक्टर (Joint Director) डॉक्टर संजय मिश्रा ने आज अचानक ही संभाग के सबसे बड़े लेडी एल्गिन अस्पताल (Lady Elgin Hospital) में बने नवजात शिशु गहन चिकित्सा इकाई का निरीक्षण किया इस दौरान उन्होंने अस्पताल में तैनात स्टाफ को शक्ति से निर्देश दिए हैं कि किसी भी तरह की नवजात शिशुओं से संबंधित लापरवाही ना बरती जाए।

यह भी पढ़ें…सज्जन के साथ दुर्जन करतूत, प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में पूर्व मंत्री का मोबाइल चोरी

लेडी एल्गिन अस्पताल पहुंचे ज्वाइन डायरेक्टर स्वास्थ्य विभाग डॉक्टर संजय मिश्रा ने अस्पताल में स्टाफ की बैठक बुलाई। जहां उन्होंने निर्देश दिए हैं कि अस्पताल में नवजात बच्चों से संबंधित किसी प्रकार की लापरवाही ना हो। साथ ही उन्होंने बताया कि लेडी एल्गिन अस्पताल को फायर एनओसी नगर निगम से दी गई है याने की एल्गिन अस्पताल पूरी तरह से अग्नि दुर्घटना को लेकर सुरक्षित है। इसके अलावा जिला अस्पताल जबलपुर को भी एनओसी दी गई है।

डॉक्टर संजय मिश्रा ने बताया कि भोपाल में हुए हादसे के बाद जबलपुर संभाग में भी अलर्ट जारी किया गया है साथ ही सभी जिला मुख्य चिकित्सा स्वास्थ्य अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि वह चाहे सरकारी हो या फिर निजी, अस्पतालों का निरीक्षण कर यह सुनिश्चित करें कि क्या सभी अस्पतालों को फायर एनओसी प्राप्त है कि नहीं अगर जिस भी अस्पताल में फायर एनओसी नहीं होता है तो फिर उनके खिलाफ कार्रवाई की जाए।

यह भी पढ़ें…बैतूल पुलिस ने अंधे कत्ल का किया 24 घंटे में खुलासा, साले ने दोस्त के साथ मिलकर की थी जीजा की हत्या