जबलपुर: आम आदमी पार्टी के महापौर प्रत्याशी को टोपी पहनने से इंकार करना पड़ा महंगा

जबलपुर, डेस्क रिपोर्ट। आम आदमी पार्टी के महापौर प्रत्याशी रईस वली के साथ पार्टी ने गजब मजाक किया है, दरअसल शनिवार को नामांकन फॉर्म बी भरने कलेक्ट्रेट कार्यालय पहुंचे थे। जहां उन्हें पार्टी से बी फॉर्म देने आश्वस्त किया गया था। लेकिन घंटे भर कलेक्ट्रेट कार्यालय में खड़े होने के बाद भी पार्टी के द्वारा बी फॉर्म नहीं दिया गया। उनके साथी और वह खुद बी फरक का घंटों इंतजार करते रहे लेकिन देर तक भी उन्हे फार्म नहीं उपलब्ध करवाया गया, जिसके बाद जिसके बाद रईस वली का गुस्सा फूट पड़ा और उन्होंने जमकर नाराजगी जताई, इसके बाद वह कलेक्ट्रेट कार्यालय से बेरंग लौट गए। इस दौरान उन्होंने आम आदमी पार्टी पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कांग्रेस पार्टी लगातार राष्ट्रीय अध्यक्ष पर मुझे “बी फार्म” न देने का दवाब बना रही थी। बकायदा पत्रकार वार्ता कर आम आदमी पार्टी ने मोहम्मद रईस वली का नाम महापौर प्रत्याशी के लिए घोषित किया था।

यह भी पढ़ें… यशवंत क्लब में कल होगा मतदान ,एजीएम में हुआ फैसला

मोहम्मद रईस वली ने आरोप लगाए है कि संगठन मंत्री को पैसे का ऑफर भी दिया गया। और कहा गया कि मोहम्मद रईस वली को टिकिट ने दे चाहे तो किसी और को महापौर के लिए खड़ा करा दिया जाए।दरअसल इसके पीछे की वजह जो बताई जा रही है वह चौकाने वाली है, दरअसल बी फार्म न देने के पीछे का कारण रईस वली का प्रेस कांफ्रेंस के दौरान आम आदमी पार्टी की टोपी न पहनने की वजह भी सामने आई हैं। मोहम्मद रईस वली के मुताबिक आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अरविंद केजरीवाल पर बहुत दबाव था। हालांकि प्रदेश संगठन मंत्री से लगातार बात हो रही थी। मुझे दिल्ली भी बुलाया गया। फिलहाल रईस वली ने अब पार्टी को चेतावनी दे डाली है।