नई नगर सरकार के लिए खास तरह से तैयार किया जा रहा है जबलपुर नगर निगम को

सदन पार्षदों के बैठने के लिए नई कुर्सियों को रखा जा रहा है इसके अलावा माइक और ए.सी भी नए लग रहे है।

जबलपुर, संदीप कुमार। नई नगर सरकार जो कि 18 साल बाद कांग्रेस की होगी उसके लिए जबलपुर नगर निगम (jabalpur municipal corporation) की ऐतिहासिक भवन को नई सिरे से सजाया जा रहा है। 20 फरवरी 2020 को भाजपा की महापौर स्वाति सदानंद गोडबोले का कार्यकाल खत्म होने के बाद से जबलपुर नगर निगम में प्रशासक राज रहा इस दौरान सदन बन्द था। 2 साल बाद अब जबकि नई नगर सरकार आ गई है तो उनके स्वागत के लिए सदन को रिनोवेट किया जा रहा है।

यह भी पढ़े…इस ऐप का हुआ डेटा लीक, बेचीं जा रही भारतीय यूजर्स की जानकारी

जबलपुर नगर निगम के सदन को नई सरकार के लिए तैयार किया जा रहा है। मजदूर जल्द से जल्द नगर निगम के सदन को नया रूप देने की तैयारी में जुटे हुए है। इसके अलावा महापौर कक्ष, महिला पार्षदों के कक्ष को भी रिनोवेट कर तमाम व्यवस्थाओं को दुरुस्त किया जा रहा है। सदन पार्षदों के बैठने के लिए नई कुर्सियों को रखा जा रहा है इसके अलावा माइक और ए.सी भी नए लग रहे है।

यह भी पढ़े…जबलपुर मेडिकल कॉलेज के 5 जूनियर डॉक्टर हिरासत में, निगम कर्मियों से मारपीट का मामला

महापौर सहित नेता प्रतिपक्ष और पक्ष- विपक्ष के पार्षदों जब ढाई साल बाद नगर निगम के सदन में आएंगे तब उन्हें कुछ नया मिले इसकी भी जोर-शोर से तैयारी की जा रही है। बता दे कि करीब 18 साल बाद कांग्रेस के जगत बहादुर सिंह महापौर की कुर्सी में काबिज होंगे जबकि भाजपा विपक्ष में होगा। हालांकि नगर निगम में भाजपा के पार्षदों की संख्या 44 है जबकि कांग्रेस के पास 26 पार्षद है ऐसे में निगम अध्यक्ष और नेता प्रतिपक्ष भाजपा का ही होगा।