लॉक डाउन में फंसी रिटायर्ड शिक्षिका, पति के साथ पेंशन लेने पहुंची थी जबलपुर

जबलपुर ।संदीप कुमार।
अपनी रिटायर्ड पत्नी श्रीमती स्वदेश सचदेवा मीणा की पेंशन लेने आए दंपति को अचानक लॉक डाउन का सामना करना पड़ा। जबलपुर में कोई भी रिश्तेदार या परिचित ना होने के चलते यह दंपत्ति पिछले 4 दिनों से इंदिरा मार्केट के पास बरामदे में अपनी दिन रात गुजार रही है। ना रहने का कोई ठिकाना था ना खाने का। इंतजार में थी की कब लॉक डाउन खत्म हो, यातायात का साधन सुलभ हो और वे अपने घर पहुँच जाए।

होटल संचालक मदद के लिए आए आगे…
होटल संचालक राजेश पिंकी एवम राजेश जैन को जब यह पता चला तो समाजसेवी सौरव शर्मा और आरिफ बेग की मदद से उन्हें तलाश करना शुरू किया गया।बेजन दंपति स्टेशन के पास टहलते हुए मिल गई।

दोनो समाजसेवियों ने पहुँचाया राजेश जैन के पास….
दोनों समाजसेवियों ने शिक्षिका और उनके पति को सम्मान होटल में एक कमरे तक पहुँचाया और लॉक डाउन रहने तक उन्हें अपने होटल में आश्रय दिया इतना ही नही उनके लिए खाने पीने की व्यवस्था निशुल्क की।

दोनों पति-पत्नी का इस तरह से विवरण—
पति का नाम -उमेश सिंह मीणा
पत्नी का नाम- सुदेश सचदेवा
पता -सगर गांव
तहसील – भीकनगांव
जिला- खरगोन
पति -किसान
पत्नी- रिटायर शिक्षिका
पेनशन लेने जबलपुर आए थे पिछले 4 दिनों से इंदिरा मार्केट के किनारे निवास कर रहे थे…