सम्मेद शिखर को पर्यटन घोषित करने के विरोध में जैन समाज ने निकाला विशाल जुलूस, प्रतिष्ठान रखे बंद

Jabalpur Jain Community Protest : झारखंड में स्थित जैन समाज के पवित्र स्थल को वहाँ की सरकार के द्वारा पर्यटन स्थल की सूची में लाने के बाद जैन समुदाय में भारी आक्रोश व्याप्त है,जिसको लेकर जबलपुर के जैन समुदाय ने आज बड़ा फुहारा से सिविक सेंटर तक मौन जुलूस निकाला गया जिसमे हजारो की संख्या में जैन समुदाय के महिला पुरुष शामिल हुए।

यह है पूरा मामला

बता दें कि हाथो में बैनर,पोस्टर लेकर सरकार से अध्यादेश वापस लिए जाने की मांग की गई, विभिन्न मार्गों से होते हुए विशाल जुलूस मालवीय चौक पहुँचा जहा सम्मेद शिखर को पर्यटन सूची से हटाने की मांग को लेकर जैन समुदाय ने प्रधानमंत्री के नाम एसडीएम को ज्ञापन सौपा है। सम्मेद शिखर को बचाने के लिए व्यापारी बंधुओ द्वारा अपने अपने प्रतिष्ठानो को बंद रखा गया।

जैन समुदाय का पवित्र तीर्थ स्थल है सम्मेद शिखर

जैन समुदाय के लोगो का कहना है की सम्मेद शिखर सदियों से जैन समुदाय का पवित्र तीर्थ स्थल है,जिसमे पूरे विश्व के जैन दर्शनार्थी सम्मेद शिखर जाते है जो आस्था जैन समुदाय का सबसे बड़ा आस्था का केंद्र है ऐसे में सरकार के द्वारा अध्यादेश लेकर सम्मेद शिखर को पर्यटन स्थल घोषित करना पुरे जैन समुदाय की आस्था के साथ खिलवाड़ करने जैसा है इसलिए इसलिए जैन समाज के द्वारा एक मोहन जुलूस निकाला गया है, उन्होंने चेतावनी दी है कि अगर जल्द ही सम्मेद शिखर जी को पर्यटन स्थल की सूची से हटाया नहीं गया तो जैन समाज के द्वारा पूरे देश में उग्र आंदोलन किया जाएगा।
जबलपुर से संदीप कुमार की रिपोर्ट