जवारे और कलश यात्रा पर दिखा कोरोना वायरस का असर

जबलपुर| संदीप कुमार| कोरोना वायरस का असर भगवान राम के त्यौहार रामनवमी में भी देखने को मिल रहा है। आमतौर पर रामनवमी के पर्व पर सैकड़ों लोग जवारे और कलश लेकर सड़कों पर देखने को मिलते थे पर इस वर्ष कोरोना वायरस के खौफ से लोगों ने ना ही अपने घरों में जवारे बोए और ना ही कलश यात्रा निकाली चूँकि जिला प्रशासन की भी इसको लेकर सख्ती थी यही वजह थी कि था कि कम लोग ही आज रामनवमी के त्यौहार में घरों से बाहर निकले।

कलश यात्रा और जवारे के दौरान दिखा सोशल डिस्टेंस…….
जबलपुर के गंगासागर स्थित मडिया जी मंदिर में हर साल सैकड़ों लोग जवारे और कलश लेकर आते थे पर इस वर्ष कोरोना वायरस और जिला प्रशासन की सख्ती भगवान के इस त्योहार में भारी पड़ गई।यही कारण था कि महज चंद लोग ही गंगासागर माड़िया जी तालाब में जवारे और कलश लेकर निकले। कलश लेकर आई लोगों में सोशल डिस्टेंस का पालन किया साथ ही सभी लोगों ने मास्क भी लगाए।

कोरोना वायरस खत्म करने के लिए भगवान से की गई प्रार्थना……

गंगासागर स्थित माड़िया जी के मंदिर में कलश और जवारे लेकर आए लोगों ने भगवान से प्रार्थना की है कि कोरोना वायरस संक्रमण बीमारी से जबलपुर सहित प्रदेश और देशवासियों की रक्षा करें और जल्द ही यह वायरस भारत से खत्म हो जाए ताकि लोग आम दिनों की तरह अपना जीवन व्यतीत कर सकें। हम आपको बता दें कि कोरोना वायरस के चलते जबलपुर जिला प्रशासन ने 31 मार्च से ही पूरे शहर में लॉक डाउन करके रखा हुआ है जिसका असर रामनवमी पर्व पर भी देखने को मिल रहा है।