Jabalpur : लॉकडाउन में भी नहीं संभले लोग, बेवजह घूमते मिले सड़कों पर, 500 लोगों पर हुई चालानी कार्रवाई

कोरोना वायरस (Corona virus) के संक्रमण को रोकने जिले में एक दिन का लॉकडाउन (Lockdown) लगाया गया। जिसमें 500 लोगों के ऊपर चालानी कार्रवाई की गई।

जबलपुर, संदीप कुमार। कोरोना वायरस (Corona virus) के संक्रमण को रोकने जिले में एक दिन का लॉकडाउन (Lockdown) लगाया गया। अत्यावश्यक सेवाओं के अवाला दवाई, दूध, सब्जियां, फल एवं राशन जैसी दैनिक आवश्यकताओं की वस्तुओं को छोड़कर जिले में सुबह 6 बजे तक सभी सेवाओं को बंद कर दिया गया था। व्यावसायिक प्रतिष्ठान तथा निजी, शासकीय एवं अशासकीय संस्थान को बंद रखने के जिला दण्डाधिकारी एवं कलेक्टर कर्मवीर शर्मा ने आदेश जारी किए।

यह भी पढ़ें…Dewas : मास्क नहीं लगाने वालों पर डीएसपी की अनूठी कार्यवाही, माला पहना कर भेजा जेल

संस्कारधानी में एक तरफ जहाँ लॉकडाउन शनिवार रात 10 बजे से शुरू हो गया था,रविवार सुबह से अस्पताल और मेडिकल दुकानें छोड़कर सभी दुकानें बंद रहीं. लॉकडाउन के दौरान धारा 144 लागू की गई। यानी बिना कारण घर से निकलने पर गिरफ्तारी के आदेश थे, लेकिन सुबह 9 से पहले ही सड़कों पर लोग आते-जाते रहे। पुलिस बैरिकेड्स लगाकर सड़क में खड़ी रही, एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा ने बताया कि आज लॉकडाउन के दौरान कुछ लोग बेवजह घर के निकल कर घूम रहे थे। ऐसे करीब 500 व्यक्तियों के खिलाफ चालानी कार्रवाई की गई एवं पांच ऐसे व्यक्ति थे जिनके द्वारा कोरोना गाइडलाइन का पालन नहीं किया जा रहा था, उनके खिलाफ धारा 188 आईपीसी कोरोना महामारी अधिनियम के तहत कार्रवाई की गई है।

Jabalpur : लॉकडाउन में भी नहीं संभले लोग, बेवजह घूमते मिले सड़कों पर, 500 लोगों पर हुई चालानी कार्रवाई

रेल्वे स्टेशन में लगी भारी भीड़
रेलवे स्टेशन में लॉकडाउन के कारण भारी भीड़ एकत्रित हो गई। लोगों में लॉकडाउन को लेकर डर बना हुआ है। उनका डर है कि अगर कोरोना ने अपने पैर पहले के भाती फिर पसार दिए तो ऐसा ना हो की महीनों के लिए लॉकडाउन लग जाए। जिसको लेकर मजदूर काम छोड़कर अपने-अपने गंतव्य को जाने के लिए रेलवे स्टेशन में ट्रेन का इंतजार कर रहे हैं

जबलपुर में लॉकडाउन रिटर्न
दूध-दवा छोड़ सब बंद, धारा 144 लागू, 34 प्वाइंट पर चेकिंग, निगरानी के लिए पन्द्रह सौ जवानों की ड्यूटी सिर्फ इनको मिली है छूट : दवा की दुकान और अस्पताल के अलावा आवश्यक वस्तुओं के थोक परिवहन, औद्योगिक इकाइयों और उनके श्रमिकों व कर्मियों, औद्योगिक कच्चे माल और उत्पाद के परिवहन, बीमार व्यक्तियों के परिवहन, बाहर से आने वाले ट्रक, डंपरों को, एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन और बस स्टैंड से आने-जाने की छूट रही। साथ ही विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में शामिल होने वाले अभ्यर्थियों को छूट रही कि वे अपनी फोटो पहचान पत्र व टिकट दिखाकर आवाजाही कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें…Love Story का दर्दनाक अंत, युवक ने पुलिस को देखकर लगाई छलांग, नाबालिग हाथ छुड़ाकर पीछे हटी