जबलपुर: अनलॉक के दूसरे दिन व्यापारियों का फूटा गुस्सा, शराब की दुकानों के सामने धरना-प्रदर्शन

परंतु कोरोना गाइडलाइन (corona guidelines) के अनुसार जिन दुकानों को खोलने का आदेश नहीं हैं, उसको लेकर शहर के व्यापारियों (traders) में भारी आक्रोश है।

जबलपुर

जबलपुर, संदीप कुमार। 1 जून से जबलपुर (jabalpur) अनलॉक (unlock) तो हो गया है, परंतु कोरोना गाइडलाइन (corona guidelines) के अनुसार जिन दुकानों को खोलने का आदेश नहीं हैं, उसको लेकर शहर के व्यापारियों (traders) में भारी आक्रोश है। जिसके चलते आज सदर शराब दुकान (liquor shops) के सामने व्यापारियों ने एकत्रित होकर पुलिस-प्रशासन का खुलकर विरोध करते हुए जमकर नारेबाजी की। इस दौरान गाइडलाइन के पालन को लेकर कांग्रेस और भाजपा के कार्यकर्ता आमने-सामने आ गए और देखते ही देखते दोनों पार्टियों के कार्यकर्ताओं में तीखी बहस के बाद झड़प हो गयी।

यह भी पढ़ें… MP Weather Alert: मप्र के इन संभागों-जिलों में बारिश के आसार, 3 जून को केरल पहुंचेगा मानसून

दरअसल मंगलवार को भी फुहारा में कपड़ा व सर्राफा व्यापारियों ने दुकान खोलने की जिद लेकर विरोध किया था। इसके बाद आज बुधवार को सदर में भी दुकान खोलने को लेकर व्यापारी लामबंद हो गए और पुलिस प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए सड़क पर उतर आए। जबलपुर चेंबर ऑफ कॉमर्स के चेयरमैन प्रेम दुबे व पदाधिकारियों ने सदर व्यापारियों का समर्थन किया। साथ ही दुकानें खोलने के लिए प्रशासन से अपील की। इधर इसकी जानकारी जब कैंट उपाध्यक्ष और कांग्रेस नेता चिंटू चौकसे को लगी तो वह अपने समर्थकों के साथ मौके पर पहुंचे और व्यापारियों का समर्थन किया। इसी दौरान कांग्रेस नेता और व्यापारियों ने क्षेत्र की शराब दुकान के सामने धरना-प्रदर्शन कर विरोध जताया।

यह भी पढ़ें… तीसरी वेब को लेकर स्वास्थ्य मंत्रालय सतर्क, कहा- संक्रमित बच्चों में नहीं नजर आते लक्षण…

जबलपुर चेंबर ऑफ कॉमर्स के चेयरमैन प्रेम दुबे का कहना है कि मध्यप्रदेश सरकार ने राजस्व बढ़ाने के लिए शराब दुकानें खोल दी हैं, लेकिन अन्य व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद हैं। इसकी वजह से व्यापारियों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। पक्षपात रवैये को लेकर जबलपुर चेंबर ऑफ कॉमर्स अब शहर की समस्त मदिरा दुकानों के सामने धरना-प्रदर्शन कर, विरोध जताएगा।

जबलपुर

व्यापारियों के विरोध प्रदर्शन के दौरान मौके पर पहुंचे पुलिस अधिकारियों ने व्यापारियों को समझाइश दी। इस दौरान व्यापारियों का कहना है कि गाइडलाइन के अनुसार जो दुकानें बंद है, वह सामान्य दिनों की भांति ही खोली जाएं। लेकिन पुलिस ने कलेक्टर के आदेश का हवाला देते हुए कहा कि व्यापारी धैर्य रखें, जल्द ही स्थिति सामान्य हो जाएगी।