JABALPUR

जबलपुर, संदीप कुमार। जबलपुर पुलिस (Jabalpur Police) इन दिनों अपराध (Crime) से निपटना छोड़ अय्याशी करने और आमजनों के साथ मारपीट करने में लगी हुई है। रविवार को जहाँ ग्वारीघाट थाना अंतर्गत चौधरी मोहल्ले में वर्दी की लाज छोड़ एक पुलिस अधिकारी (Police Officer) शराब (liqueur) के नशे में धुत अपने साथी के साथ महिलाओ के साथ अय्याशी करते हुए पकड़ा गया था तो वही आज बेलखेड़ा पुलिस पर मासूम और उसके पिता को मारने का संगीन आरोप लगा है, हालांकि परिजनों की शिकायत पर इस घटनाक्रम की जाँच शुरू की गई है।

यह भी पढ़े.. Coronavirus: मप्र में बढ़ता कोरोना का कहर, होशंगाबाद-पचमढ़ी का मेला स्थगित

दरअसल, 10 साल के बच्चे को उसके साथी ने एक मोबाइल रखने दिया था। बच्चे का गुनाह सिर्फ इतना था कि उसने बिना सोचे समझे मोबाइल  (Mobile) रख लिया था। बच्चे ने जैसे ही घर जाकर उसे चालू किया तो लोकेशन (Location) के आधार पर डायल 100 (Dial 100) की टीम उसके घर पहुँची। बिना बात किए ही 10 साल के बच्चे के साथ पुलिसकर्मियों (Policeman) ने मारपीट करना शुरू कर दिया। बीच मे पिता ने पुलिस को रोकना चाहा तो पिता को भी बेरहमी से पीट दिया।

परिजनों ने बताया कि बिना कुछ जांचे पूछे बेलखेड़ा की डायल हंड्रेड पुलिस उनके घर पहुंची और ना सिर्फ बच्चे के साथ मारपीट की बल्कि उसके पिता को भी बेरहमी से पीटा पुलिस की बर्बरता ऐसे ही नजर आती है कि मारपीट में बच्चे के कान का पर्दा फट गया और उसे सुनाई देना भी बंद हो गया। परिजनों ने पुलिसकर्मियों पर आरोप लगाया कि बच्चे को मारने के बाद भी उसे घायल हालत में ही इस थाने ले जाया गया।

यह भी पढ़े.. Sex Racket! विधायकों-सांसदों को बनाते थे अपना शिकार, Porn Video दिखा वसूलते थे मोटी रकम

घायल हालात में बच्चे और पिता के साथ परिजन एसपी ऑफिस पहँचे, जहाँ उन्होने एसपी (Jabalpur SP) कार्यालय का घेराव किया साथ ही पुलिसकर्मी पर गंभीर आरोप लगाए। इधर शिकायत के बाद एएसपी (Jabalpur ASP) शिवेश सिंह बघेल ने बच्चे के साथ मारपीट करने वाले पुलिसकर्मियों को बुलाया है साथ ही बच्चे को उनकी पहचान करने के लिए कहा गया है। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ने कहा कि इस पूरे घटनाक्रम की जांच होगी और जो भी पुलिसकर्मी इसमें दोषी होगा उनके खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी।

कभी वर्दी पहनकर शराब पीना और तो कभी बेकसूर आमजन और बच्चों के साथ मारपीट करना इस तरह की घटना अब आए दिन जबलपुर पुलिस के साथ देखे जा रही है। बहरहाल कुछ पुलिसकर्मियों के इस बर्ताव के चलते कहीं ना कहीं जबलपुर पुलिस की छवि धूमिल हो रही है ऐसे में वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों को इस ओर ध्यान देने की आवश्यकता है।