थाने से आरोपी के फरार होने का मामला, ASI समेत 7 पुलिसकर्मी सस्पेंड

जबलपुर| पाटन के इलाहाबाद बैंक लॉकर से करीब दो लाख रुपए चुराने वाला आरोपी रामसेवक आज सुबह पुलिसकर्मियों को चकमा देकर फ़रार हो गया। इस वारदात को एसपी अमित सिंह ने गंभीरता से लिया जिसके बाद एसपी ने पाटन थाने में पदस्थ एक ASI सहित सात पुलिसकर्मियो को निलंबित कर दिया है|बताया जा रहा है कि जिस समय आरोपी रामसेवक हथकड़ी को खिसका कर फरार हुए था उस समय यही पुलिसकर्मी थाने में मौजूद थे।

जानकारी के मुताबिक 4 जनवरी की रात को इलाहाबाद बैंक में ही पदस्थ चपरासी रामसेवक ने बैंक में प्रवेश करते हुए लॉकर से करीब दो लाख रु निकालकर रफूचक्कर हो गया था। बैंक प्रबंधन के द्वारा की गई चोरी की शिकायत पर जब पुलिस जांच करती है तो पाती है की बैंक में ही पदस्थ चपरासी रामसेवक ने लॉकर से 200000 रु निकाले थे। पाटन थाना पुलिस ने आरोपी रामसेवक को गिरफ्तार भी कर लिया था। पाटन थाना पुलिस ने  आरोपी रामसेवक से करीब 100000 रु नगद भी वसूल कर लिए थे जबकि बाकी के रु वसूल करने हेतु उसे पुलिस रिमांड में लिया गया था। बुधवार सुबह रामसेवक पाटन थाना पुलिस को चकमा देते हुए हथकड़ी को खिसका कर फरार हो गया।

एसपी अमित सिंह ने इस पूरे मामले को गंभीरता से लिया लिहाजा लापरवाही बरतने के चलते एक एएसआई सहित सात पुलिसकर्मियों को एसपी ने निलंबित कर दिया है। बताया जा रहा है कि जिस समय आरोपी रामसेवक फरार हुआ था उस दौरान एएसआई जगदीश सिंह, हेड कॉस्टेबल रोहित,भगत सिंह के साथ आरक्षक शुभम,अमित, पुष्पराज और विकास थाने में थे जिन्होंने अपनी ड्यूटी को गंभीरता से नही लिया। एसपी अमित सिंह ने माना कि अपनी ड्यूटी के दौरान इन सभी पुलिसकर्मियों ने लापरवाही बरती है जिसके चलते इन सातों पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया है वहीं आरोपी रामसेवक की गिरफ्तारी के लिए एसपी अमित सिंह ने एक टीम गठित की है जो कि उसके तमाम ठिकानों पर लगातार छापामार कार्यवाही कर उसे गिरफ्तार करने का प्रयास कर रही है।