जबलपुर। संदीप कुमार।
कोरोना वायरस संक्रमण की वह घड़ी जबकि पूरा देश इस महामारी से निपटने के लिए जूझ रहा है उस समय मध्य प्रदेश के जबलपुर में सुबह 7 बजे से लेकर रात 1 बजे तक शहरों की सड़कों में घूमने वाले पुलिस अधीक्षक अमित सिंह का अचानक तबादला हो जाना विचारणीय है।राज्य सरकार ने आईपीएस ट्रांसफर लिस्ट जारी की है।अमित सिंह के स्थान पर सिद्धार्थ बहुगुणा को अब जबलपुर एसपी की कमान सौपी गई।जबकि अमित सिंह को मूख्यालय भेजा गया है।

पहले से ही लगाए जा रहे थे कयास
मध्यप्रदेश में कमलनाथ सरकार के बदलते ही कयास लगाना शुरू हो गया था कि शिवराज सरकार में अमित सिंह का तबादला होना निश्चित है और आखिर वही हुआ।जबलपुर में कोरोना वायरस संक्रमण से निपटने में कलेक्टर भरत यादव और एसपी अमित सिंह सफल भी हुए थे।मुख्यमंत्री शिवराज सिंह वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में इनके कामो की तारीफ भी करते थे फिर भी अमित सिंह का तबादला होना कुछ अलग ही इशारा कर रहा है।

पहले भी हुआ था एसपी का तबादला
विधानसभा चुनाव के दौरान लगी अचार सहिंता में पूर्व मंत्री लखन घनघोरिया के साथ एक विवाह समारोह में अमित सिंह साथ मे डांस कर रहे थे जिसको लेकर भाजपा ने आयोग से शिकायत की थी और उन्हें फिर मूख्यालय भेज दिया था।हालांकि कुछ माह बाद वे फिर वापस जबलपुर एसपी बन कर आ गए थे।

ट्रांसफर से बिगड़ सकती है स्थिति
कोरोना वायरस संक्रमण के दौरान जबलपुर में धीरे धीरे पॉजिटीव केसों की संख्या में जैसे जैसे इजाफा हो रहा है वैसे वैसे हालात बिगड़ रहे है।अभी जबकि अमित सिंह शहर के हर क्षेत्र से अच्छी तरह वाकिफ है तो इस समय उनका ट्रान्सफर करना और नए अधिकारी को एसपी बनाना सोचने वाली बात है।

संभाग कमिश्नर रवींद्र मिश्रा को भी भेजा सचिवालय
एसपी अमित सिंह के ट्रांसफर होने के कुछ घंटों बाद ही संभाग कमिश्नर रविन्द्र मिश्रा को भी फरमान जारी हो गया कि आप सचिवालय जाएं।बहरहाल कुछ घंटों में ही दो बड़े अधिकारियों के ट्रांसफर को लेकर सोशल मीडिया में कई तरह की बाते होना शुरू हो गई है।