Jabalpur: इलाज के दौरान मेडिकल कॉलेज में हुई महिला की मौत, आरोपियों ने 15 बार मारा था मृतिका को चाकू

विवाद में आरोपियों ने महिला और बच्चे पर चाकुओं से 15 वार किए थे जिन्हें गंभीर हालात में मेडिकल अस्पताल भर्ती कराया गया है।

jabalpur

जबलपुर, संदीप कुमार। जबलपुर (jabalpur) के रामपुर साईं नगर में 9 दिन पहले हुए नाली विवाद के लिए खूनी खेल खेला गया। इस दौरान तीन आरोपी (accused) चाकू से लेश होकर एक घर मे घुसते है जहां परिवार पर हमला कर युवक की हत्या कर देते है वही घायल हालात में महिला को मेडिकल कालेज (medical college) में भर्ती किया जाता है जहाँ ईलाज के दौरान महिला ने दम तोड़ दिया। विवाद में आरोपियों ने महिला और बच्चे पर चाकुओं से 15 वार किए थे जिन्हें गंभीर हालात में मेडिकल अस्पताल भर्ती कराया गया है।

यह भी पढ़ें… MPPSC: मप्र लोक सेवा आयोग ने इन पदों पर मांगे आवेदन, नोटिफिकेशन जारी

मृतक था भाजपा का बूथ अध्यक्ष
जानकारी के मुताबिक रामपुर साईंनगर निवासी पुष्पराज उर्फ विजय कुशवाहा भाजपा का बूथ अध्यक्ष था और ठेकेदारी का काम भी किया करता है।18 मई को नाली से पानी बहने को लेकर पड़ोसी विनय कुशवाहा से विवाद हो गया था तब पुष्पराज और उसके पक्ष के तीन अन्य लोगों ने विनय कुशवाहा के परिवार के साथ मारपीट कर दी। उसी का बदला लेने के लिए विनय अपने दो अन्य रिश्तेदारों के साथ पुष्पराज के घर गया और चाकूओं से ताबड़तोड़ हमला कर दिया, घटना में घायल हुई पुष्पराज की पत्नी नीलम कुशवाहा की आज मेडिकल में मौत हो गई,जबकि बहन और बच्चे की हालात सामान्य बताई जा रही है।

सोमवार को चाकूओं से लेश होकर घुसे घर मे
मारपीट का बदला लेने की लिए विनय कुशवाहा ने अपने साले साला गुप्तेश्वर निवासी राजा कुशवाहा और जीजा रवि कुशवाहा के साथ सोमवार की रात पुष्पराज के घर में घुस गए, तीनों चाकू व लाठी-डंडे से लैस थे, तीनों ने पुष्पराज को चाकू से गोद डाला,बचाने पहुंची पत्नी नीलम (22) पर भी चाकू से वार कर घायल कर दिया,इसके बाद तीनों आरोपी थोड़ी दूरी पर रहने वाले पुष्पराज के जीजा गोलू कुशवाहा के घर पहुंचे,तीनों ने घर में घुसकर गोलू को लाठी-डंडे से तो पत्नी रूचि उर्फ ज्योति कुशवाहा (22) और बेटे प्रतीक (5) पर चाकू से वार कर घायल कर दिया।

यह भी पढ़ें… सांसद सिंधिया ने केंद्रीय मंत्री को लिखा पत्र, ग्वालियर के लिए की ये बड़ी मांग 

नाली विवाद में जान गई यह पहला मामला नही
जबलपुर में नाली विवाद में हुई मौत की ये कोई पहली घटना नही है, 12 अक्टूबर 2009 मे भी गढ़ा के सैनिक सोसायटी में नाली विवाद को लेकर गुस्साए सुनील सेन ने कुल्हाड़ी से 7 लोगों की हत्या कर दी थी,हत्या के बाद वह कुल्हाड़ी लेकर ही घटनास्थल पर बैठा रहा था,इसके बाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया था,बीते 17 मार्च 2021 को हनुमानताल में नाली में कचरा फेंकने के विवाद में सईद नाम के युवक की हत्या कर दी गई थी।