जबलपुर : हाईकोर्ट परिसर में अधिवक्ता का शव रखकर हंगामा, नाराज वकीलों ने परिसर में की तोड़फोड़

आज सुबह ही एक मामलें की सुनवाई के दौरान युवा अधिवक्ता अनुराग साहू अचानक अपने घर चला गया और उसने आत्महत्या कर ली, इसी से नाराज वकीलों ने अनुराग का शव रखकर हाईकोर्ट परिसर में ही हंगामा कर दिया।

madhya pradesh highcourt

जबलपुर, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश हाई कोर्ट परिसर जबलपुर में शुक्रवार को उस वक़्त सनसनी फैल गई जब शाम चार बजे एक युवा अधिवक्ता का शव रखकर अधिवक्ता प्रदर्शन करने लगे। हाई कोर्ट के हनुमान मंदिर के सामने शव आधा घण्टा रखा रहा। इसके बाद वकीलों ने परिसर में तोड़फोड़ कर स्टेट बार कार्यालय में आग लगा दी, हंगामा बढ़ता देख भारी पुलिस बल मौके पर पहुंचा। दरअसल वकील युवा अधिवक्ता की आत्महत्या से नाराज थे।

यह भी पढ़ें….एंबुलेंस को निकालने के लिए PM Modi ने रुकवा दिया अपना काफिला, सोशल मीडिया पर वायरल हुआ वीडियो

नाराज वकील घटना की सीबीआई जांच की मांग कर रहे थे। इसी दौरान कुछ आक्रोशित वकीलों से सम्बंधित कोर्ट व मुख्य न्यायाधीश की कोर्ट के आसपास तोड़फोड़ भी कर दी। वरिष्ठ अधिवक्ता मनीष दत्त के स्टेट बार भवन में बने कार्यालय में तोड़फोड़ के साथ आग लगा दी। जिसके बाद फायरब्रिगेड बुलाई गई। आक्रोशित वकीलों को नियंत्रित करने पुलिस को बल प्रयोग करते हुए लाठीचार्ज भी करना पड़ा। उनका आरोप था कि शुक्रवार को सुबह युवा अधिवक्ता अनुराग साहू महिला आरक्षक से दुष्कर्म के आरोपित टीआई संदीप अयाची की जमानत अर्जी का विरोध करने न्यायमूर्ति संजय द्विवेदी की कोर्ट में खड़े हुए थे। इसी दौरान जज व वरिष्ठ अधिवक्ता से तर्क के दौरान कुछ ऐसा हुआ, जिससे अवसादग्रस्त होकर साहू सीधे घर गया और आत्महत्या कर ली। जिसकी जानकारी लगते ही सैकड़ों की संख्या में वकील नारेबाजी करने लगे। वे अनुराग का शव उसके घर से लेकर हाई कोर्ट परिसर में आ गए। उनका आरोप है कि कोर्ट में जो हुआ, उसकी जांच हो। वही कोर्ट परिसर में हुए हंगामे के बाद देर तक सनसनी फैली रही।