कुख्यात बदमाश की मौत की न्यायिक जांच शुरू, पुलिसकर्मियों के भी होंगे बयान

जबलपुर| संदीप कुमार| Jabalpur News कुख्यात बदमाश शुभम बागरी के द्वारा पुलिस की मौजूदगी में आत्महत्या करना किसी को भी रास नहीं आ रहा है | लिहाजा पूर्व मंत्री लखन घनघोरिया ने भी इस पूरे घटनाक्रम की न्याययिक जाँच (Judicial inquiry) की मांग की थी। अब इस पूरी घटना की न्यायिक जांच अपर सत्र न्यायाधीश हरीश वनवंशी ने शुरू कर दी है। न्यायिक जांच कर रहे अपर सत्र न्यायाधीश ने घटनास्थल का मुआयना किया और परिजनों के बयान भी दर्ज किए वहीं उनकी निगरानी में ही कल मृतक का पीएम करवाया गया था।

अपर सत्र न्यायाधीश ने डॉक्टरों से भी बातचीत भी की थी। इस पूरे मामले में निलंबित किए गए साइबर टीम के सदस्यों के भी बयान दर्ज किए जाएंगे। मृतक शुभम को जो गोली लगी थी वह उसके कान की ओर से घुसी और दूसरी तरफ कनपटी में छेद करते हुए साइबर टीम के वाहन में लग गई थी। गोली चलने के दौरान सिविल लाइन थाने में हुई घटना के बाद सनसनी फैल गई थी। घटना के दौरान मौजूद अन्य पुलिसकर्मियों के भी बयान दर्ज किए जाएंगे। गौरतलब है कि शुभम बागरी हनुमानताल थाना क्षेत्र का शातिर बदमाश था जिसे की मंगलवार की रात को आईजी साइबर टीम ने विजयनगर से पकड़ा था और हथियारों की बरामदगी के लिए सिविल लाइन जा रहे थे उसी दौरान यह पूरा घटनाक्रम हो गया।बहरहाल शुभम बागरी की मौत कैसे हुई उससे पर्दा न्यायिक जांच के खत्म होने के बाद ही उठेगा।