सरकार ने किसान विदेश अध्ययन यात्रा पर लगाई रोक, पूर्व मंत्री ने साधा निशाना

जबलपुर।

शिवराज सरकार में किसानो को खेती की उन्नत किस्मो को सीखने के लिए विदेश जाना का मौका मिलता था।कृषि विभाग इसके लिए किसानो को विदेश यात्रा भी कराता था।पर कमलनाथ सरकार ने किसानों की विदेश यात्रा में रोक लगा दी है जिसको लेकर अब विपक्ष ने कांग्रेस सरकार पर  हमला बोला है।

दरअसल, मुख्यमंत्री विदेश अध्यन दौरा के तहत भाजपा सरकार हर साल जिलों उन्नतशील किसानों को उन्नत किस्म की खेती सीखने के लिए विदेश अध्यन दौरा करवाती थी।इस दौरे में किसान खेती की अच्छी तकनीकी सीखते थे और फिर वापस भारत आकर सीखी हुए गुण का प्रयोग कर उच्च किस्म की खेती करते थे।बीते 2017-18 में भी जबलपुर से सात किसान विदेश यात्रा के तहत जाकर उन्नत खेती सीखी और फिर अब खेती को लाभ का धंधा बना रहे है।पर कांग्रेस सरकार में किसानों की विदेश यात्रा पर विराम लगा दिया गया है।जबलपुर के कृषि अधिकारी भी मान रहे है कि विदेश यात्रा में जाकर किसान उन्नत किस्म की खेती सीखा करते थे पर इस वर्ष मुख्यमंत्री विदेश अध्यन दौरे को लेकर किसी भी प्रकार की सूचना नही आई है।

इधर किसानों की हितेषी योजना के बंद होने पर पूर्व कृषि मंत्री गौरी शंकर बिसेन ने सरकार पर निशाना साधा है।पूर्व मंत्री का कहना है कि मुख्यमंत्री विदेश अध्ययन दौरा में उन्नतशील किसानों को चयनित कर विदेश भेजा जाता था। पर वर्तमान की कांग्रेस सरकार ने उसे बंद कर दिया है जो कि किसानों के हित में बिल्कुल भी नहीं है।पूर्व मंत्री गौरीशंकर बिसेन ने आरोप लगाया कि कांग्रेस सरकार जनता से जुड़ी तमाम योजनाओं को धीरे धीरे बंद कर रही है।उन्होंने कहा कि प्रदेश की सड़कें खराब पड़ी है।होमगार्ड सैनिकों की तनखा नहीं मिल रही है और जितनी भी योजनाएं भाजपा सरकार की थी तमाम योजनाएं को कमलनाथ सरकार ने बंद कर दिया है।यह सरकार पूरी तरह से असफल साबित हो रही है।