जबलपुर में SDM के खिलाफ लामबंद हुए वकील, उग्र आंदोलन की दी चेतावनी

जबलपुर| जबलपुर में जिला प्रशासन के अधिकारी इन दिनों पूरी तरह से बेलगाम हो गए है। आलम ये है कि अब सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों का भी खुलेआम प्रशासनिक  अधिकारी उलंखन कर रहे है।ताजा मामला आधारताल एसडीएम सादिक खान का है जिसके खिलाफ जबलपुर जिले के वकील लामबंद हो गए है।एसडीएम सादिक खान के खिलाफ जबलपुर जिले के प्रभारी सचिव संजय दुबे को वकीलों ने अपनी शिकायत दर्ज कराई है।

वकीलों का आरोप है कि एसडीएम सादिक खान अनावश्य रूप से लोगो को परेशान किया करते है।वकील अनीश त्रिवेदी ने सुप्रीम कोर्ट में हुए नूर मोहम्मद केश का हवाला देते हुए अपनी बात संजय दुबे के सामने रखी। उन्होंने बताया कि जब सुप्रीम कोर्ट में भी धारा 151 के तहत किसी व्यक्ति को जेल नही भेजा जा सकता है तो इसके बावजूद आधारताल एसडीएम सादिक खान ने धारा 151 के तहत मामला दर्ज कर कई लोगो को जेल भेज है जिसके बाद लोग 1-1 हफ्ते जेल में रहने को मजबूर हो रहे हैं। जबकि सर्वोच्च न्यायालय ने नूर मोहम्मद के केस का हवाला देते हुए कहा था कि धारा 151के तहत किसी को जेल नही भेजा जा सकता है। वकीलों ने एसडीएम के खिलाफ सर्वोच्च न्यायालय की अवमानना करने की भी बात कही है।उन्होंने संजय दुबे से शिकायत की है कि अगर ऐसे ही प्रशासनिक और पुलिस अधिकारी सर्वोच्च न्यायालय के आदेश की अवेहलना करते है तो यह सही नही है।इतना ही नही एसडीएम डायवर्सन के हर केश में खुलेआम रूपयों की मांग करते हैं।जबकि कलेक्टर भरत यादव के संज्ञान में भी यह पूरा मामला है। बावजूद इसके किसी भी तरह से एसडीएम के खिलाफ कार्रवाई नहीं की जा रही है। लिहाजा वकीलों ने चेतावनी दी है कि अगर एसडीएम शादिक खान के खिलाफ कार्रवाई नहीं हुई तो आने वाले समय में ना सिर्फ  आंदोलन किया जाएगा बल्कि हाईकोर्ट में उनके खिलाफ अवमानना का प्रकरण भी लगाएंगे।इधर शिकायत पर नगरीय प्रशासन के प्रमुख सचिव संजय दुबे का कहना था कि इस पूरे मामले की जांच अब कलेक्टर भरत यादव को दी गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here