‘सवर्ण आरक्षण’ पर बोले नेता प्रतिपक्ष, ‘क्या सरकार को सामान्य वर्ग के वोट नही चाहिए’

Leader-of-Opposition-attack-on-kamalnath-government-on-'general-Reservation'

जबलपुर|  मध्य प्रदेश में बनी नई सरकार कमलनाथ की पूरे देश में अजूबा है, ऐसी सरकार आज तक नहीं देखी यह कहना है भाजपा के दिग्गज नेता और विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव का। जबलपुर आए नेता प्रतिपक्ष ने कांग्रेस सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि कांग्रेस सरकार के मंत्री जिस मामले में क्लीन चिट देते हैं। मंत्री अपने हस्ताक्षर भी करते हैं अधिकारी उनका परीक्षण कर अपनी रिपोर्ट सौंपते है उसके बावजूद विधानसभा के बाहर से वह लोग जिन्होंने संविधान के अंतर्गत शपथ नहीं ली वह सदन के बाहर से चिल्लाते हैं कि यह गलत है। इस रिपोर्ट को बदलो। पहली बार ऐसा हुआ है कि विधानसभा में हास्यपद जैसी स्थिति बनी हो। उन्होंने कहा वर्तमान में देखा जा रहा है कि सरकार और कांग्रेस में टकराव शुरू हो गया है। 

सवर्णों के लिए लाए गए आरक्षण को लेकर भी नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने कांग्रेस सरकार को घेरा है उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने संविधान में संशोधन करते हुए 10% आरक्षण लाया इस आरक्षण में वह लोग है जो गरीब हैं जिनके पास कोई रोजगार नहीं है जिनके परिवार का कोई भी व्यक्ति आज तक चतुर्थ श्रेणी में नौकरी नहीं किया है ऐसे लोगों के लिए संशोधन हुआ और 10% आरक्षण की व्यवस्था की गई पर मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार ने आज तक इस और कोई गौर नहीं किया | अन्य राज्यों में विज्ञापनों के साथ-साथ भर्ती भी शुरू हो गई पर कमलनाथ सरकार का इस और कोई ध्यान नहीं है। लगता है सरकार को सामान्य वर्ग के वोट नहीं चाहिए| 

आंदोलन की चेतावनी 

नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव ने कहा कि जब केंद्र सरकार ने सवर्णों को 10% आरक्षण को लेकर संविधान में संशोधन कर दिया है बावजूद इसके मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ कहते हैं कि एक कमेटी बनाई जाएगी और फिर तय किया जाएगा कि आगे क्या करना है। उत्तर प्रदेश-बिहार -गुजरात में सवर्णों के लिए आरक्षण लागू हो चुका है पर मध्य प्रदेश की सरकार हिला हवाली कर रही है। नेता प्रतिपक्ष ने चेतावनी दी है कि जल्द ही सरकार अगर सवर्णों के आरक्षण पर विचार नहीं करती है तो एक विशाल आंदोलन किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here