बे मौसम बारिश से फ़सलों को हुआ नुकसान किसानों के चेहरे चिंतित

संदीप कुमार।जबलपुर।

दो दिन से आसमान में छाए बादलों के बीच आज सुबह जमकर बारिश हुई साथ ही ओले भी गिरे।जबलपुर में अचानक मौसम में तेजी से आए बदलाव ने किसानों की कमर तोड़ दी है।जबलपुर शहर सहित आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों में तेज़ बारिश के साथ जमकर ओले गिरे। शहर के अलावा पनागर, बरगी, कुंडम, शहपुरा, बरेला, पाटन, सिहोरा और मझौली क्षेत्रों में तेज़ बारिश के साथ साथ ओलो भी गिरे। बेमौसम बारिश और ओलावृष्टि से सबसे ज्यादा नुकसान खड़ी फ़सलों को हुआ है।पीड़ित किसानों ने ज़िला प्रशासन से मांग की है कि वो उनकी मदद कर उचित मुआवजा की व्यवस्था करे। किसान रामसेवक और अशोक कुमार बताते है कि उन्होंने अपने खेतों में चना, गेहूं, मसूर की फासले सहित सब्ज़ियाँ लगाई थी पर आज आसमान से गिरी आफ़त की बूंदों से इन फ़सलों को भारी नुकसान का हुआ है।

महाराष्ट्र में बने कम दवाब का नतीजा है बारिश
दरअसल महाराष्ट्र में कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है इसके साथ ही पश्चिमी विक्षोभ के असर से भी मौसम ने अचानक करवट बदली है।गुरुवार की सुबह से ही अचानक अंधेरा छाने लगा और तेज़ बारिश से ओले गिरने शुरू हो गए,पहले से ही कम फसल और फसल का सही दाम न मिलने की परेशानी झेल रहे किसान इस बेमौसम की बारिश को अपने ऊपर दोहरी मार मान रहे है।

खराब फ़सलों का होगा सर्वे
जबलपुर शहर सहित ग्रामीण इलाकों में हुई बारिश से किसानों की फसल पूरी तरह से तबाह हो गई है लिहाजा कलेक्टर ने तहसीलदारो को निर्देश दिए है कि वो बारिश से हुई खराब फ़सलों का सर्वे कर रिपोर्ट सौंपे।