बरगी हिल्स में सेटेलाइट सिटी बनने से होगा मास्टर प्लान का उल्लंघन

जबलपुर।संदीप कुमार।

मास्टर प्लान में साफ तौर पर उल्लेख किया गया है कि जबलपुर के बरगी हिल्स में किसी भी प्रकार का निर्माण न किया जाए। बावजूद इसके राज्य सरकार तमाम निर्देशो का उल्लंघन करते हुए बरगी हिल्स में सेटेलाइट सिटी बनाने की तैयारी कर रही है जिसका आम नागरिक मित्र फाउंडेशन ने कड़ा विरोध किया है। साथ ही चेतावनी दी है कि अगर सरकार इस पर निर्णय नही लेती है तो इसके विपक्ष में जाकर हम हाई कोर्ट में जनहित याचिका दायर करेंगे।

आम नागरिक मित्र फाउंडेशन के सदस्य रजत भार्गव की माने तो बरगी हिल्स सहित मदन महल का पूरा इलाका अनुरक्षित एवं संरक्षित क्षेत्रों में शामिल है जो कि मास्टर प्लान में भी साफ दिखा रहा है। उन्होंने यह भी कहा कि जबलपुर मास्टर प्लान के अध्याय 1 के क्लाज 1.10 में संपूर्ण मदन महल परिसर को संवेदनशील निरूपित कर दो भौतिक विकास हेतु नकरात्मक क्षेत्र बताया गया है।क्लाज में यह भी लिखा है कि नगर विकास प्रक्रिया में नगर विशिष्ट निर्माण पुरातत्व एवं ऐतिहासिक महत्त्व के निर्माण एवं संरक्षण हेतु जो बनाए गए हैं उन्हें बिल्कुल भी ना छेड़ा जाए।

रजत भार्गव ने कहा कि साफ जाहिर है कि मदन महल पहाड़ियों के बरगी हिल्स में सिटी बनाना जबलपुर मास्टर प्लान का घोर उल्लंघन है।आम नागरिक मित्र फाउंडेशन ने यह सच्चाई सामने रखते हुए बरगी हिल्स में सैटेलाइट सिटी बनाने का विरोध किया है। गौरतलब है कि बरगी पर सैटेलाइट सिटी बनाने हेतु 50 एकड़ भूमि राज्य सरकार ने चिन्हित की है तथा शासन स्तर पर भूमि आवंटन की प्रक्रिया भी जारी है।

आम नागरिक फाउंडेशन की माने तो हाईकोर्ट के निर्देश पर मदन महल पहाड़ी को खाली करवाया गया था और वहां पर रहने वालों को अन्य जगह स्थापित किया गया। वहीं दूसरी ओर मास्टर प्लान और हाईकोर्ट का उल्लंघन करते हुए राज्य सरकार संरक्षित क्षेत्र में बसाहट करने की योजना बना रही है जिससे जबलपुर का पर्यावरण एवं सुंदरता खराब हो सकती है।आम नागरिक मित्र फाउंडेशन की माने तो सरकार को बरगी हिल्स में सेटेलाइट सिटी न बनाये जाने के लिए आग्रह किया गया है और फिर भी अगर इस और ध्यान नही दिया गया तो माननीय हाई कोर्ट में एक जनहित याचिका दायर की जाएगी।