जबलपुर। संदीप कुमार शर्मा।

एनआरसी और सीएए के खिलाफ पिछले 15 दिनों से जबलपुर के रद्दी चौकी में धरने पर बैठी महिलाओं को धरना खत्म कराने के लिए जिला प्रशासन लगातार चेतावनी दे रहा है पर महिलाएं धरना खत्म करने को तैयार नहीं है। गुरुवार को भी धरने को खत्म करने के लिए मौके पर भारी पुलिस बल तैनात किया गया। कलेक्टर भरत यादव, एसपी अमित सिंह के नेतृत्व में पुलिस बल ने पूरे क्षेत्र को घेर लिया।

इसके बाद धरने पर बैठी महिलाओं और उनका सहयोग करने वाले पुरुष सदस्यों को क्षेत्र खाली करने के लिए कहा गया। लेकिन महिलाओं ने ऐसा करने से इंकार कर दिया। इधर विशेष समुदाय के नेता भी मौके पर पहुंच गए और उन्होंने एनआरसी और सीएए के ख़िलाफ़ चल रहे धरने को जारी रखने का आग्रह किया लेकिन कलेक्टर और एसपी ने उनकी बात मानने से साफ इंकार कर दिया। फिलहाल दोनों पक्षों में बातचीत चल रही है। जिला प्रशासन बार-बार आग्रह कर रहा है कि शांतिपूर्ण ढंग से इस धरने को समाप्त कर दिया जाए और उन्हें बल प्रयोग ना करना पड़े। पूरे क्षेत्र में भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। जिससे क्षेत्र में तनाव की स्थिति बन गई है। तनाव की सूचना मिलने के बाद प्रदेश के सामाजिक न्याय मंत्री लखन घनघोरिया भी धरना स्थल पर पहुंच गए। एनआरसी और सीएए के खिलाफ धरना दे रही महिलाओं और पुरुषों ने कैबिनेट मंत्री लखन घनघोरिया को अपनी मांगों का एक ज्ञापन भी सौंपा। कैबिनेट मंत्री लखन घनघोरिया ने ज्ञापन को मुख्यमंत्री कमलनाथ तक पहुंचाने का आश्वासन भी दिया हालांकि इसके बाद अभी भी धरना जारी है।