विचारधारा पर काम करते हुए 6 सालों में मोदी सरकार ने रचा इतिहास : डॉ. सहस्त्रबुद्धे

जबलपुर| संदीप कुमांर| हम राजनीति में क्यों हैं? इस सवाल का जवाब भाजपा के लोग तो दे सकते हैं, लेकिन कांग्रेस वाले नहीं दे सकते। कांग्रेस के लिए राजनीति पद पाने का जरिया है और हमारे लिये राजनीति सेवा का माध्यम है। हमारी केंद्र सरकार इसी दृष्टि से काम कर रही है। इसी विचारधारा पर काम करते हुए मोदी सरकार ने बीते 6 सालों में इतिहास रच दिया है। हमें यह बात देश-प्रदेश की जनता को बताना है, उसे समझाना है। यह बात भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और प्रदेश प्रभारी डॉ. विनय सहस्त्रबुद्धे ने जबलपुर के पार्टी कार्यकर्ताओं को वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से संबोधित करते हुए कही।

केंद्र सरकार की उपलब्धियों पर विस्तार से प्रकाश डाला
डॉ. सहस्त्रबुद्धे ने कहा कि देश में बीते 6 दशकों तक ऐसे लोगों ने शासन किया, जिनकी कोई विचारधारा नहीं थी। एक तगड़े विपक्ष की गैरमौजूदगी में ये लोग सिर्फ लोक लुभावन नारों और तुष्टिकरण के आधार पर शासन करते रहे। लेकिन 2014 में जब प्रधानमंत्री श्री मोदी जी के नेतृत्व में केंद्र में भाजपा की सरकार बनी, तो देश की राजनीति में बड़ा बदलाव आया। उन्होंने कहा कि बीते 6 सालों में इस सरकार ने उद्देश्यपूर्ण शासन किया। सरकार ने नीतियां बनाने या निर्णय लेने में समय नहीं गवांया। चाहे पाक के आतंकियों को सबक सिखाना हो, या डोकलाम में चीन को सड़क बनाने से रोकने का मामला, सरकार ने तेजी से निर्णय लिये। इस मामले में सरकार ने अपनी अलग पहचान बनाई है। नीतियां प्रभावी हों, इसके लिए सरकार ने क्रियान्वयन का तंत्र विकसित किया। इसके अलावा इस सरकार ने ऐसी पारदर्शी व्यवस्था बनाई, ताकि अंतिम पायदान के व्यक्ति तक सरकार की योजनाओं का लाभ बेरोकटोक पहुंच सके।

समय पर लॉकडाउन करके देश को बचाया
डॉ. सहस्त्रबुद्धे ने कहा कि कुछ विपक्षी नेता जो कोरोना महामारी के चलते विदेश नहीं जा पा रहे हैं और देश में फंसकर रह गए हैं, वो टाइमपास करने के लिए अनर्गल बयानबाजी कर रहे हैं। ये नेता मोदी सरकार द्वारा किये गए लॉकडाउन को गलत बता रहे हैं। ये बात-बात पर स्वीडन का उदाहरण देते हैं। लेकिन इन्हें नहीं पता कि स्वीडन में हाल क्या हुआ है। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने समय पर लॉकडाउन का निर्णय लिया और देश में कोरोना के प्रसार को अनियंत्रित नहीं होने दिया। डॉ. सहस्त्रबुद्धे ने कहा कि मोदी सरकार ने लॉकडाउन का त्वरित निर्णय लिया और देश को बचा लिया। यह सरकार की निर्णय क्षमता का परिचायक है। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के कारण देश के लोगों ने इस महामारी की गंभीरता को समझा और ऐसी जीवनशैली को अपनाया, जिससे महामारी के प्रसार को नियंत्रित करने में सफलता मिली। डॉ. सहस्त्रबुद्धे ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री मोदी जी ने देश को आत्मनिर्भर बनाने के लिए कोरोना काल में 20 लाख करोड़ का पैकेज दिया है, जिसके बारे में सभी कार्यकर्ताओं को लोगों को बताना चाहिए।

हमारी सरकार ने किया है वास्तविक काम
डॉ. सहस्त्रबुंद्धे ने कहा कि गरीबी हटाने की बात महात्मा गांधी से लेकर कांग्रेस के तमाम नेताओं ने भी कही, लेकिन देश से गरीबी नहीं हटी। इस दिशा में वास्तविक काम हमारी सरकार ने शुरू किया। छोटे व्यापारियों, किसानों सभी की चिंता की। गरीब बहनों को उज्जवला योजना में गैस सिलेंडर दिया। उन्होंने कहा कि यदि ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना वायरस की चपेट में आने वाली महिलाओं की संख्या कम है, तो इसकी एक वजह उज्जवला योजना भी है। इसके चलते इन बहनों का श्वसनतंत्र धुएं की वजह से कमजोर होने बच गया और वे कोरोना से संक्रमित नहीं हुईं। हमारी सरकार ने किसानों को शोषण मुक्त किया। मध्यप्रदेश में तो हमारी सरकार ने किसानों को इतनी स्वतंत्रता दी कि वे कहीं से भी अपनी उपज बेच सकते हैं। इसी राह पर आगे कदम बढ़ाते हुए हमारी केंद्र सरकार ने आवश्यक वस्तु अधिनियम में संशोधन किया और दो अध्यादेशों को मंजूरी दी। इससे पूरे देश के किसान सक्षम, सशक्त और स्वतंत्र हुए हैं। उन्होंने कहा कि हमारी केंद्र सरकार पूरी पारदर्शिता से काम कर रही है। सरकार ने फर्जी कंपनियों पर रोक लगाई है और अब विपक्ष भी यह मानने लगा है कि भ्रष्टाचार कम हुआ है और ऊपर पैसा पहुंचाने का विषय अब समाप्त हो गया है। सरकार पारदर्शिता के लिए टेक्नोलॉजी का उपयोग कर रही है, जिससे बिचौलिये समाप्त हो गए हैं।

बीते एक साल में हुए है महत्वपूर्ण काम..
डॉ. सहस्त्रबुद्धे ने कहा कि कश्मीर से धारा 370 की समाप्ति, ट्रिपल तलाक, नागरिकता संशोधन कानून जैसे हमारे मुद्दों को लेकर विपक्षी हमारा मजाक उड़ाते थे। कहते थे, जब बहुमत ही नहीं मिलेगा, तो ये काम कैसे करोगे? लेकिन जनता ने 2019 में विस्तृत जनादेश दिया और प्रधानमंत्री मोदी जी के नेतृत्व में सरकार बनते ही कश्मीर से धारा 370 और 35 ए हटा दी गई, जो लाखों लोगों को उनके अधिकारों से वंचित कर रही थी। इससे कश्मीर की जनता को न्याय मिला और कश्मीर अब देश की मुख्यधारा में है। मुस्लिम बहनों की तकलीफों को दूर करने के लिए मोदी सरकार ने ट्रिपल तलाक विरोधी कानून बनाया। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी ने पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश से प्रताड़ित होकर आए शरणार्थियों को नागरिकता देने का वादा किया था, सरकार ने नागरिकता संशोधन कानून बनाकर इसे पूरा किया। इसके अलावा सरकार ने बैंकों के मर्जर जैसे कई निर्णय लिए हैं, जो आने वाले समय में मील के पत्थर साबित होंगे।

इस अवसर पर दिल्ली से सांसद राकेश सिंह के साथ नगर अध्यक्ष जीएस ठाकुर, विधायक अशोक रोहाणी, पूर्व विधायक शरद जैन, पूर्व महापौर स्वाति गोडबोले एवँ उत्तर व पश्चिम विधानसभा के प्रमुख कार्यकर्ता वीडियो कांफ्रेंसिंग में जुड़े।