MP News : लुग्दी बन गए करोड़ों के स्टाम्प पेपर, पुलिस और कैमरे की निगरानी में किया नष्ट

MP News : बीतें दिनों जबलपुर जिले के एक हजार करोड़ से अधिक स्टाम्प को नष्ट किया गया था, इसके बाद अब जबलपुर और रीवा संभाग के 14 जिलों से आए 347 करोड़ रुपये से अधिक मूल्य के स्टाम्प पेपरों को भी नष्ट करने की कार्रवाई जबलपुर के कलेक्ट्रेट परिसर में की जा रहीं है। आज दूसरे दिन भी करोड़ों रुपए के स्टाम्प नष्ट किए गए। शासन के निर्देश पर प्रशासन-कोषालय एवं पंजीयन विभाग के अधिकारियों की एक टीम बनाई गई, जिसके समक्ष पेपर कटर मशीन से स्टाम्प की कतरन तैयार की गई है। स्टाम्प के बीच में चांदी की लाइन को विभाग अपने पास रख रहा है।

वरिष्ठ जिला कोषालय अधिकारी विनीता लकरा ने बताया कि जबलपुर जोन में आने वाले सभी 14 जिलों से 100 रुपये से अधिक मूल्य वाले स्टाम्प बुलवाकर शासन के नियमों के अनुसार उनका विनष्टीकरण किया गया। इस दौरान 25000 रुपये तक के स्टाम्प पेपर नष्ट किए गए। मंगलवार को अपनाई गई इस प्रक्रिया के दौरान कुल 7 लाख 65 हजार 638 स्टाम्पों को नष्ट किया गया। इनका कुल मूल्य 347 करोड़ 18 लाख 94 हजार 900 रुपये रहा।

इन जिलों से आए स्टाम्प पेपर

विनष्टीकरण की इस प्रक्रिया में सिवनी, रीवा, सतना, कटनी, नरसिंहपुर, मंडला, अनूपपुर, सीधी, शहडोल, उमरिया, छिंदवाड़ा, डिंडौरी, सिंगरौली और बालाघाट जिले को कोषालय से आए स्टाम्प पेपर शामिल रहे। इस लाट में सर्वाधिक 62 करोड़ 89 लाख 69 हजार 900 रुपये के स्टाम्प पेपर रीवा जिले से आए। गौरतलब है कि इसी माह के पहले सप्ताह में एक हजार करोड़ रुपए से अधिक के स्टाम्प को नष्ट किया गया था।
जबलपुर से संदीप कुमार की रिपोर्ट


About Author
Amit Sengar

Amit Sengar

मुझे अपने आप पर गर्व है कि में एक पत्रकार हूँ। क्योंकि पत्रकार होना अपने आप में कलाकार, चिंतक, लेखक या जन-हित में काम करने वाले वकील जैसा होता है। पत्रकार कोई कारोबारी, व्यापारी या राजनेता नहीं होता है वह व्यापक जनता की भलाई के सरोकारों से संचालित होता है। वहीं हेनरी ल्यूस ने कहा है कि “मैं जर्नलिस्ट बना ताकि दुनिया के दिल के अधिक करीब रहूं।”

Other Latest News