कांग्रेस के सामने नई चुनौती, अब इन्होंने मांगे लोकसभा चुनाव के टिकट

muslim-association-demand-seat-from-congress

भोपाल/जबलपुर। मध्य प्रदेश में लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस के सामने टिकट वितरण को लेकर बड़ी चुनौती का सामना करना पड़ा रहा है। अलग अलगर वर्ग से अब टिकट की मांग उठने लगी है। विधानसभा का प्रदर्शन कांग्रेस लोकसभा चुनाव में भी दोहराना चाहती है। हाल ही में  मुस्लिम वेलफेयर एसोसिएशन ऑफ इण्डिया ने कांग्रेस पार्टी से मांग की है कि प्रदेश की 29 लोकसभा सीटों में से 5 से 6 सीटें मुस्लिम समाज से आने वाले उम्मीदवारों को दी जाएं। इस संबंध में एसोसिएशन के अध्यक्ष ने राहुल गांधी और प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ को एक पत्र भी लिखा है। 

राहुल गांधी और कमलनाथ को लिखे पत्र में मांग की गई है कि प्रदेश की मुस्लिम बहुल सीटों में से भोपाल, होशंगाबाद, सागर-बीना, खण्डवा-बुरहानपुर, इंदौर , सिवनी और जबलपुर की लोकसभा सीटों पर मुस्लिम प्रत्याशियों को मौका दिया जाए। इसी मांग के साथ एसोसिएशन के पदाधिकारी जबलपुर में मीडिया से मुखातिब हुए एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष गुलाम रसूल अंसारी ने कांग्रेस पर मुस्लिमों की उपेक्षा करने का आरोप लगाया।

अंसारी ने कहा कि मध्यप्रदेश,छत्तीसगढ़ और राजस्थान में कांग्रेस की जीत की बड़ी वजह उसे मिले मुस्लिम वोट हैं। प्रदेश अध्यक्ष अंसारी ने कहा कि अब वक्त बदल गया है और प्रदेश का एक करोड़ मुसलमान अपनी बेहतरी के लिए अपने बीच के लोगों को सांसद बनवाना चाहता है। अंसारी ने कांग्रेस को चेतावनी भी दी है कि अगर मुस्लिम उम्मीदवारों को प्रदेश में 5 से 6 लोकसभा सीटों पर टिकट नहीं दी जाती है तो समाज कांग्रेस का साथ छोड़ने का विचार कर सकता है।