मध्य प्रदेश का नटवरलाल “केबीसी” पुलिस गिरफ्त में, 2 साल से थी तलाश

जबलपुर, डेस्क रिपोर्ट। आज हम आपको मिलवाते हैं मध्य प्रदेश के नटवरलाल “केबीसी” से, जिसने अपने दिमाग का इस्तेमाल करते हुए एक ही जमीन को न सिर्फ कई लोगों को बेच दिया बल्कि लोगों को उनके खुद के मकान का सब्जबाग दिखाते हुए लाखों रुपये भी ऐंठ लिए। पुलिस की नजरों से बचकर यहाँ वहाँ घूमते हुए आखिरकार दो साल बाद जबलपुर पुलिस ने नरसिंहपुर से कमरुद्दीन उर्फ “केबीसी” को गिरफ्तार करने में कामयाबी पाई है।

MP School: मध्य प्रदेश में खुलेंगे 9200 सीएम राइज स्कूल, CM के सामने कार्य योजना पेश

एक दो नही बल्कि तीस से ज्यादा लोगों के साथ नटवरलाल केबीसी ने किया धोखा
मध्य प्रदेश का मिस्टर नटवरलाल उर्फ केबीसी ने एक दो नहीं बल्कि 30 से ज्यादा लोगों को अच्छे और सस्ते मकान का सपना दिखाते हुए लाखों रुपए ऐंठ लिए। इतना ही नहीं, कमरुद्दीन ने एक ही जमीन को कई लोगों के नाम कर उनसे भी अच्छी खासी रकम झटक ली। गोहलपुर पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि आरोपी कमरुद्दीन नरसिंहपुर में छुप कर बैठा है, जिसके बाद पुलिस ने शुक्रवार को उसे गिरफ्तार किया।

केबीसी गिरफ्तार हो गया, यह जानकारी मिलते ही लोग पहुँच गए थाने
जिन जिन लोगों से कमरुद्दीन ने मकान और जमीन के नाम पर लाखों रुपए लिए थे उन लोगों को जैसे ही जानकारी लगी कि गोहलपुर पुलिस ने 3000 के इनामी ठगबाज को नरसिंहपुर से गिरफ्तार कर लिया है और उसे जबलपुर लेकर आ गई है, वैसे ही लोग थाने पहुंच गए। लोगों का कहना था कि इस व्यक्ति ने एक दो नहीं बल्कि 30 से ज्यादा लोगों को अपनी ठगी का शिकार बनाया है।

पुलिस ने लिया आरोपी को 5 दिन की रिमांड पर
मध्य प्रदेश के नटवरलाल केबीसी को जबलपुर पुलिस बीते 2 सालों से तलाश कर रही थी। जानकारी यह भी लगी है कि केबीसी ने सिर्फ जबलपुर में ही नहीं, बल्कि आसपास के कई जिलों में ठगी को अंजाम देकर उनसे लाखों रुपए की वसूली की है। फिलहाल पुलिस ने आरोपी को 5 दिन की रिमांड में लिया है जिसमें पूछताछ के दौरान कई अहम खुलासे होने की उम्मीद जताई जा रही है।