कोरोना वायरस: मुफ़्ती ए आजम ने मुस्लिम भाइयों से की अपील, जुमे की नमाज़ घरों में ही करे अता

जबलपुर।संदीप कुमार।

कोरोना वायरस के चलते अब कल होने वाली मुस्लिम समुदाय की अदा होने वाली जुमा की नमाज़ पर भी बदलाव किया गया है।मध्यप्रदेश के मुफ़्ती ए आजम मौलाना हामिद अहमद सिद्ध की ने प्रदेश भर के मुस्लिम भाइयों को निर्देश दिए है कि ईदगाह में 10 से ज्यादा लोग नमाज़ अता करने न आए।

मौलाना हामिद अहमद सिद्ध की का मुस्लिम समुदाय के लोगो के लिए संदेश

संदेश में लिखा हुआ है कि आज सारी दुनिया कोरोना वायरस की महामारी से परेशान है और इससे फैलने वाली बीमारी ने सारी दुनिया को जकड़ लिया है। इस महामारी से फैलने के कारण शासन प्रशासन हर एहतियाती कदम भी उठा रहा है और इससे किस तरह बचा जा सकता है। उन तमाम तरीकों को समझाया भी लगातार जा रहा है।ऐसे में एतिहाद के तौर पर हुक़ूमत भी हमसे मुताबिक कर रही है की मस्जिदों में नमाज बाजवा अता  करने पर रोक एहतियाती तौर पर लगाई जाए। मस्जिदों को आबाद रखना मुसलमानों का फर्ज़ है पर मौजूदा हालात को देखते हुए लोग अपने घरों में ही नमाज़ पढे तो इसमें कोई हर्ज भी नहीं है।

मुस्लिम भाइयों से मुफ़्ती ए आजम ने की अपील
कल जुमे की नमाज अदा होने वाली है जिसको लेकर मौलाना हामिद अहमद सिद्ध की ने सभी से अपील की है कि ईदगाह में 10 से ज्यादा लोग ना जाए और जो जाते भी है तो वो मास्क लगाकर ही नमाज़ अता करे। बाकी मुस्लिम भाई अपने अपने घरों पर ही नमाज़ पढ़ सकते है।

कोरोना वायरस से लड़ने के लिए पाँचो वक्त अजाने दी जाए। चूँकि ये एक दूसरे से लगने वाली बीमारी है जो हुजूम और भीड़ में एक दूसरे को लग सकती है। लिहाजा एहतियात लाज़मी हैं। जिसमें कोई शरई रुकावट नहीं। मस्जिद बंद ना की जाएं और जो नमाज की जमात है उसे भी कायम रखें। मुल्क में इस महामारी के ना फैलने की और अमन कायम रखने की दुआएँ भी सभी मुस्लिम भाई करें।