8 जून से मानने होंगे मंदिर, मॉल, होटल के लिए नए नियम

जबलपुर| संदीप कुमार| लॉकडाउन (Lockdown) के बाद 8 जून से मंदिर, मॉल, होटल सहित कई चीजें खुल जाएंगी लेकिन हालात बिल्कुल कोरोनावायरस संक्रमण से पहले वाले नहीं रहेंगे। अब आपका अनुभव बिल्कुल अलग होगा। हेल्थ मिनिस्ट्री ने Unlock 1.0 को ध्यान में रखते हुए स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसेड्योर (SOPs) लागू किया है। अगर आप मॉल, मंदिर, होटल या रेस्तरां में जाते हैं तो इन नियमों को मानना जरूरी होगा। हालांकि कंटेनमेंट ज़ोन में अभी ज्यादा छूट नहीं दी गई है लेकिन बाकी इलाकों को राज्य सरकार (State Government) अपनी सहूलियत से खोल रही हैं।

मॉल में हालात ऐसे होंगे
शॉपिंग मॉल की दुकानों में अब आपको हर चीज छूने की इजाजत नहीं होगी। बच्चों को ध्यान में रखते हुए गेमिंग एरिया और सिनेमा हॉल में प्लेइंग ज़ोन को बंद रखने का आदेश दिया गया है।

मंदिर के लिए खास नियम
मंदिरों को खोला जा रहा है लेकिन वहां भी सख्त नियमों का पालन होगा। मूर्ति को छूना या मंदिर में किताब पढ़ने की अनुमति नहीं होगी। बहुत ज्यादा संख्या में लोगों के जमा होने पर भी रोक होगी। कोरोनावायरस संक्रमण कम से कम हो इसको ध्यान में रखते हुए भजन या आरती गाने वाले समूह पर भी रोक होगी। उनकी जगह रिकॉर्डेड भजन बजाया जा सकता है। इसके साथ ही प्रसाद बांटने या पवित्र जल छींटने पर भी रोक होगी।

रेस्तरां जाने के नियम
दो महीने से भी ज्यादा लंबे समय तक बंद रहने के बाद होटल और रेस्तरां एकबार फिर खुल गए हैं। लेकिन रेस्तरां में बैठकर खाने का अनुभव अब आपके लिए पहले जैसा नहीं रह जाएगा। हेल्थ मिनिस्ट्री के SOPs के मुताबिक, रेस्तरां में बैठकर खाने की जगह होम डिलीवरी पर ज़ोर दिया जाएगा। फूड डिलीवरी करने वाले को खाने का पैकेट कस्टमर के दरवाजे पर छोड़ना होगा। फूड पैकेट अब एक हाथ से दूसरे हाथ में डिलीवर नहीं किया जाएगा जैसा सामान्य तौर पर पहले होता था।

होम डिलीवरी के लिए जाने से पहले रेस्तरां अथॉरिटी डिलीवरी बॉय की थर्मल स्क्रीनिंग कराएंगे

इसके साथ ही Social Distancing का भी पूरा ध्यान रखा जाएगा। किसी भी रेस्तरां में 50 फीसदी से ज्यादा कैपेसिटी नहीं भरी जा सकेगी। जहां तक मेनू की बात है तो मिनिस्ट्री ने डिस्पोजेबल मेनू इस्तेमाल करने की सलाह दी है। आम तौर पर मेनू एक कस्टमर से दूसरे कस्टमर को दिया जाता है लेकिन अब डिस्पोजेबल मेनू से संक्रमण का खतरा कम हो सकता है। साथ ही कपड़े के नैपकिन के बजाय बेहतर क्वालिटी के पेपर नैपकिन का इस्तेमाल करने को कहा गया है।

होटल के लिए क्या गाइडलाइंस है
कोरोनावायरस संक्रमण और लॉकडाउन की वजह से हॉस्पिटैलिटी सेक्टर को काफी नुकसान हुआ है जिसकी वजह से सरकार ने अब होटलों को भी खोलने की अनुमति दे दी है। होटलों में रेस्तरां में बैठकर खाने के बजाय रूम सर्विस या टेकअवे को बढ़ावा दिया जाएगा।