कोरोना : श्मशान घाट में नहीं बची जगह, अंतिम संस्कार के इंतजार में शव

जबलपुर में अंतिम संस्कार करने के लिए श्मशान घाट में जगह नहीं बची है। मोक्ष संस्था ने जिला प्रशासन से जल्द ही अंतिम संस्कार के लिए जगह की व्यवस्था करने की मांग की है।

मध्य प्रदेश

जबलपुर, संदीप कुमार। जबलपुर में कोरोना संक्रमण (Covid-19) लगातार अपना कहर बरपा रहा है। जानकारी के अनुसार जिले में सोमवार को कोरोना संक्रमण से करीब 24 लोगों की मौत हुई है। लगातार हो रही मौत के चलते अब प्रशासन के पास अंतिम संस्कार करने के लिए श्मशान घाट में जगह तक नहीं बची है। जिले के चौहानी श्मशान घाट में सोमवार सुबह से 25 से ज्यादा शवों का अंतिम संस्कार किया गया।

यह भी पढ़ें:-ग्वालियर में सख्ती: कोचिंग संस्थान पढ़ा सकेंगे ऑनलाइन, धार्मिक स्थलों पर प्रवेश प्रतिबंधित

वर्तमान में 12 चिताओं की आग ठंडी भी नहीं हुई थी कि अब पुनः श्मशानघाट में अंतिम संस्कार के लिए चिताओं का ढेर लग गया है। मोक्ष संस्था लगातार कोरोना पॉजिटिव और संदिग्ध का अंतिम संस्कार करवा रहा है। लेकिन अब श्मशान घाट के शेड और जमीन पर इतनी जगह भी नहीं है कि अंतिम संस्कार किया जाए।

अंतिम संस्कार के इंतजार में शव

जानकारी के मुताबिक जबलपुर के कई निजी और शासकीय अस्पतालों में मृतकों के शव रखे हुए हैं लेकिन श्मशान घाट में अंतिम संस्कार के लिए जगह ना होने के चलते उनका अंतिम संस्कार नहीं हो पा रहा है। मोक्ष संस्था ने जिला प्रशासन से मांग की है कि जल्द ही अंतिम संस्कार के लिए जगह की व्यवस्था करें, नहीं तो आने वाले समय में अंतिम संस्कार करना मुश्किल हो जाएगा।