अब पालतू श्वानों में बीमारी के लक्षण, पशु चिकित्सा विभाग का अलर्ट

जबलपुर,संदीप कुमार। इंसानों के बाद अब पशुओं में भी बीमारी का खतरा मंडराने लगा है लिहाजा पशु चिकित्सा विभाग ने अलर्ट जारी किया है,पालतू पशुओं में श्वान ज्यादा बीमारियों से पीड़ित हो रहे है जिसके चलते पशु असप्तालो में भी धीरे-धीरे बीमार पशुओ की संख्या बढ़ने लगी है। जानकारी के मुताबिक वेटनरी अस्पताल के ओपीडी में रोजाना करीब 80 से 100 के बीच श्वान और अन्य पशु आ रहे हैं जिनमें की 10 फीसदी वेक्टर वार्न डिसीज बीमारी से पीड़ित होते हैं, इन डिसीज में अरचलिया-बेबेशिया-एनप्लजमा से पीड़ित ज्यादा श्वान होते है हालांकि श्वान पालक यदि बीमार डॉग को समय पर अस्पताल ले आते हैं तो इसकी रिकवरी भी फुल हो जाती है।

चुनाव से पहले चौकाने वाली खबर, कुछ ही देर में होगा मंत्रिमंडल विस्तार, इन नामों पर चर्चा

वेक्टर वार्न डिसीज बीमारी से ग्रसित हो रहे है श्वान
जबलपुर के नानाजी देशमुख पशु विज्ञान अस्पतालों की ओपीडी में पशुओं के आने की संख्या में तेजी से इजाफा हुआ है,पहले जहाँ ओपीडी में रोजाना 50 से 60 पशु ईलाज के लिए आते थे अब इनकी संख्या बढ़कर 80 से 100 हो गई है,बीमार पशुओ में श्वान की संख्या में तेजी से बढ़ोत्तरी हुई है, श्वान वेक्टर वार्न डिसीज बीमारी से इन दिनों ग्रसित है, हालांकि श्वानों में होने वाले डिसीज का रिकवरी रेट अच्छा बताया जा रहा है।

सड़कों की बदतर हालत को लेकर कांग्रेस का अलग अंदाज में विरोध, ढोल बजाकर किया गड्डों का नामकरण

भले ही श्वानों में होने वाली वेक्टर बोर्न डिजीज बीमारी का रिकवरी रेट अच्छा है लेकिन जिस हिसाब से रोजाना बीमार श्वान सामने आ रहे हैं उसे लेकर पशु चिकित्सकों ने श्वान पालकों को बेहद सावधानी बरतने के अपील की है,श्वान पालकों की मानें कि उनके पालतू श्वान को अचानक से ही बुखार आ गया और फिर उल्टियां होने लगी जिसके बाद उसे ईलाज के लिए वैटनरी पशु चिकित्सालय लाया गया है।